हम हिंदुस्तानियों के दिन की शुरुआत चाय से न हो, तो पूरा दिन हमें बेकार सा लगता है. चाय की दीवानगी ऐसी है कि इसका ज़ायका लेने के लिए हम मीलों तक का सफ़र पैदल भी तय कर सकते हैं. ऐसे ही चाय लवर्स के लिए एक और चाय डेस्टिनेशन को खोज कर लाए हैं हम. ये चाय हमारे पड़ोसी देश बांग्लादेश में मिलती है, जो सतरंगी यानी इंद्रधनुष के कलर की है.

Source: Tenor

ढाका के टालटोला मार्केट में इस सतंरगी चाय को पीने के लिए लोग विदेशों से भी यहां आते हैं. इस चाय स्टॉल के ओनर हैं सैफ़ुल इस्लाम. इन्होंने सात लेयर वाली इस चाय को बनाने में महारथ हासिल की है.

Source: YouTube

इस चाय के हर लेयर में अलग रंग ही नहीं स्वाद भी अल्हदा है. हैरानी की बात ये है सभी चाय एक दूसरे में न तो मिक्स होती हैं और न ही किसी का स्वाद भी बिगाड़ती है. इस एक प्याली चाय का दाम है 70 रुपये.

रंगधोनू(Rangdhonu) नाम की इस चाय को बनाना सैफु़ल ने बांग्लादेश के लेजेंडरी टी-मेकर रोमेश राम गौर से सीखा है. ढाका से 200 किलोमीटर दूर श्रीमंगोल शहर में उनके टी-स्टॉल पर चाय पीने वालों की भीड़ लगी रहती है.

Source: Infusion te blogpot

सैफु़ल ने Xinhua News Agency से इस बारे में बात करते हुए कहा, 'रोमेश से ही मैंने ये सात लेयर वाली चाय बनाने की टेक्नीक सीखी थी. उसके बाद मैं ढाका आ गया और मैंने यहां अपना खु़द का रंगधोनू चाय का स्टॉल शरू किया.'

हालांकि, इस चाय की सीक्रेट टेक्नीक के बारे में उन्होंने नहीं बताया लेकिन वो इसमें क्या-क्या डालते हैं, सैफुल ने इसका जवाब ज़रूर दिया.

उन्होंने कहा, 'हम इसमें कई तरह की लोकल चाय, चीन से आने वाली चाय, दूध और कई तरह के मसाले डालते हैं. हर लेयर का अपना अलग स्वाद और रंग होता है. हर लेयर की चाय को मैं बड़ी ही सावधानी से दूसरी पर डालता हूं, ताकी सात रंग की चाय लोगों को सर्व कर सकूं.'
Source: YouTube

ये चाय हेल्दी होती है. सैफु़ल का ये टी स्टॉल अब ढाका का एक फ़ेमस टूरिस्ट स्पॉट बन गया है.

तो कब जा रहे हैं आप ढाका?