बच्चे हर दिल अजीज़ होते हैं. जब इनका मूड अच्छा होता है, तब तक तो सब कुछ सही रहता है, लेकिन एक बार जब ये रोना शुरू कर देते हैं, तो पूरा का पूरा घर सिर पर उठा लेते हैं. इसका कारण कुछ भी हो सकता है, मनपसंद खाना न मिलना, मां की याद सताना, किसी खिलौने के लिए ज़िद करना आदि. कई बार इनके रोने का फनी कारण भी होता है, जिसके बारे में सोचकर हम तो हंस देते हैं, लेकिन इनकी आंख से गंगा-जमुना बहने लगती है. इसी सिलसिले में आज हम आपको कुछ रोते हुए बच्चों की तस्वीरें दिखाएंगे. इनके रोने के अतरंगी कारण के बारे में जानकर आप भी पेट पकड़ कर हंसने को मजबूर हो जाएंगे.

इन जनाब को इनकी मॉम ने कंकड़ खाने से मना कर दिया था.

इन्हें अपनी मां से ही बेड टाइम स्टोरी सुननी थी.

इनके डैडी ने इन्हें रिमोट नहीं खाने दिया था.

इन्हें बिस्किट में लगी क्रीम नहीं पसंद आई.

इनकी मॉम ने इन्हें घर के बर्तन फेंकने से रोक दिया था.

इनके डैड ने इन्हें कॉफी में उंगली डालने से रोक दिया था.

इन्हें मेकअप करना पसंद था, लेकिन मां ने रोका तो…

इनकी मां ने इन्हें चिली सॉस खाने से रोकने का काम किया.

इनके डैड ने इन्हें बिना चप्पल पहने बाहर नहीं जाने दिया.

ये तो ग़ज़ब हैं, कुत्ते की पूंछ ही खाने जा रही थीं. रोकने का नतीजा आपके सामने है.

इसकी मॉम ने इनको बस थोड़ा सा चलने के लिए कहा था.

इन्हें अपनी टॉय-कार का कलर पसंद नहीं आया था.

इन्हें टॉयलेट में हाथ डालने से रोक दिया गया था.

ये न तो बैठना चाहते थे, न ही लेटना चाहते थे. बड़ी मुसीबत है यार.

इन्हें हैप्पी बर्थडे सॉन्ग पसंद नहीं आया.

इनको अपने डैड के कपड़े पहनने थे.

इसे अवन खोलने से रोका गया था.

इनका केला टूट गया, तो इन्हें रोना आ गया.

नहाने के लिए पानी चला दिया गया, तो ये रोने लगे.

पापा के जूते इनको फ़िट नहीं हुए.

ये महाशय तो टॉयलेट ब्रश ही खाने चले थे, रोके जाने पर ये हुआ.

ये ग़लती से अपना एक बाल खा गई और फिर इसे लेकर रोने लगीं.

इन्हें तो अपने बर्थडे केक से ही नफ़रत है.

ये अपना ही जूता खाने पर उतारू थीं.

अगर आपको इस सवाल का जवाब मिल गया हो तो हमसे शेयर करना न भूलें.

Source: Boredpanda