हिटलर की मौत को बेशक 6 दशक से भी ऊपर का वक़्त हो चुका है, पर उससे जुड़ी बातें आज भी लोगों के सामने आती रहती है. सबसे खास चीज़ ये है कि इन बातों के प्रति आज भी लोगों की रूचि कम नहीं हुई है. हाल ही में इस बात का खुलासा हुआ है कि हज़ारों लोगों को मौत की नींद सुलाने वाला हिटलर नशे का आदी था. The Telegraph की रिपोर्ट के अनुसार हिटलर अपने भाषण से पहले कोकीन और मेथ जैसे ड्रग्स का इस्तेमाल करता था.

हालांकि इस बात पर लोगों के बीच मतभेद हैं, पर Blitzed, Drugs in the Third Reich किताब को लिखने वाले Norman Ohler का कहना है कि

"नशे की वजह से हिटलर की नसें भी कमजोर हो गई थी, जिसके बारे में डॉक्टर भी उसे चेता चुके थे.' इसके साथ ही वो दावा भी करते हैं कि हिटलर के चेहरे पर भी नशे की निशान साफ़ दिखाई देते थे, वो दिन भर काले कौवों को देखता रहता था.

Source: jewish

हिटलर के बारे में ये बात भी सामने आई है कि वो सारे जर्मनी को भी इस नशे का आदी बनाना चाहता था. इसके लिए उसने रहस्यमयी तरीके से लोगों को पिल के रूप में मेथ का डोज़ देने भी शुरू कर दिया था. ये पिल उस दौरान लोगों के लिए चाय के जितना ही आम हो गए थे.

ऐसा भी कहा जा रहा है कि हिटलर की प्रेमिका रही Eva Braun भी इसी तरह के नशे से ग्रसित थीं, जिसका उन पर प्रभाव सेक्स के प्रति एडिक्शन के रूप में दिखाई दिया.

ऐसा भी कहा जाता है कि फ्रांस पर हमले के दौरान अपने जवानों के बीच 35 मिलियन डोज़ का ऑर्डर दिया था, जिसे हिटलर की ने अपनी शक्ति का पर्याय बता कर वितरित किया.

किताब को लिखने वाले Ohler का कहना है कि:

अपनी सभाओं के दौरान भी हिटलर भीड़ का उत्साह बढ़ाने के लिए उन्हें नशे की डोज़ दिया करता था. दूसरे विश्व युद्ध के दौरान भी 1941 में हिटलर, हार्मोन और स्टेरॉयड के इंजेक्शन देने लगा था. Ohler दावा करते हैं कि बिना नशे के हिटलर का व्यक्तित्व पानी में रखे एक चावल के दाने की तरह था.

Source: unilad