गाड़ियों का शौक जिन्हें होता है, उनकी पॉकेट भी थोड़ी गहरी होती है. जब पैसे की चिंता नहीं तो इंसान अपने शौक पूरा करने के लिए न जाने क्या-क्या कर जाता है. अब जयपुर के 37 वर्षीय करोड़पति राहुल तनेजा को ही ले लीजिये. इन जनाब ने अपनी कार की वीआईपी नंबर प्लेट के लिए 16 लाख रूपये ख़र्च कर डाले.

Source: indiatimes

जयपुर के रहने वाले राहुल तनेजा इवेंट मैनेजमेंट कंपनी के मालिक हैं. मॉडल से बिज़नेसमैन बने राहुल तनेजा को नंबर '1' से बेहद लगाव है. वो इस नंबर को अपने लिए लकी मानते हैं. उनकी अधिकतर गाड़ियों में यही नंबर होता है. इस वीआईपी नंबर के लिए राहुल कुछ भी करने को तैयार रहते हैं. राजस्थान में RJ 45 CG 0001 वीआपी नंबर माना जाता है जिसके लिए बकायदा नीलामी होती है.

दरअसल राहुल ने इसी साल 25 मार्च को 1.50 करोड़ की जैगुआर XJ L ख़रीदी थी. अब इतनी महंगी गाड़ी ख़रीदी है तो वीआईपी नंबर प्लेट तो बनती है बॉस. 0001 नम्बर से खासा लगाव होने के बावजूद उनके सामने मुश्किल ये थी कि ये नंबर मिलेगा कैसे? लेकिन एक महीने के इंतज़ार के बाद आख़िरकार राहुल ने 16 लाख रूपये ख़र्च करके ये वीआईपी नंबर हासिल कर ही लिया.

Source: maseratiofalbany

राहुल ने ऐसा पहली बार नहीं किया है. साल 2011 में भी उन्‍होंने बीएमडब्‍ल्‍यू 5 सीरीज़ की अपनी पहली लग्ज़री कार ख़रीदी थी. इस कार की नंबर प्लेट के लिए भी उन्‍होंने 10.31 लाख रुपए ख़र्च किये थे. राहुल का शौक सिर्फ़ गाड़ियों तक ही सीमित नहीं है, उनके मोबाइल नंबर में भी पांच एक हैं.

Source: jaguarusa

राजस्थान आरटीओ विभाग के अधिकारियों के मुताबिक़, राहुल तनेजा ने वीआईपी नंबर ‘1’ के लिए जो 16 लाख की रकम जमा कराई है, वो अब तक जयपुर आरटीओ में नंबर रजिस्ट्रेशन के लिए जमा कराई गई सबसे बड़ी रकम है.

आपको ये जानकर हैरानी होगी कि एक समय में राहुल के पिता मध्‍य प्रदेश में टायर रिपेयर शॉप चलाते थे. इसके बाद 1984 में वे जयपुर शिफ़्ट हो गए. 11 साल की उम्र में राहुल ने घर छोड़कर काम करना शुरू कर दिया था. राहुल इस समय एक इवेंट कंपनी के मालिक हैं जो प्रीमियम वेंडिंग्‍स कराती है.

वीआईपी नंबर 0001 के लिए ऐसी दीवानगी आपने शायद ही इससे पहले कभी देखी हो.

Source: indiatimes