मकर संक्रांति के दिन आस्था और आध्यात्म की नगरी प्रयागराज में कुंभ मेले की शुरुआत हुई. गंगा, यमुना और सरस्वती के संगम, त्रिवेणी घाट पर देश और विदेश से लोग डुबकी लगाने पहुंच रहे हैं. लेकिन इस मेले को मात्र एक बहुत बड़ा शाही स्नान फ़ेस्टिवल समझने की भूल न करें. यहां आपको देश और विदेश की सांस्कृतिक झलक भी देखने को मिल जायेगी.

सबसे बड़ी बात ये कि इस बार किन्नर अखाड़ा भी इस कुंभ में साधुओं के साथ डुबकी लगाता दिखाई दिया. दूसरी तरफ़ लोग भी साधुओं और नागा बाबाओं के साथ सेल्फ़ी लेते दिखाई दिए.

यहां न सिर्फ़ भारतीय साधु-बाबाओं ने लोगों का ध्यान अपनी और खींचा, बल्कि विदेशी बाबाओं को देखकर भी लोग अभिभूत हो रहे हैं. जैसे ये जिन्हें सोशल मीडिया पर लोग इको फ़्रेंडली बाबा कह रहे हैं.

एक नागा बाबा से एक महिला ये जानना चाहती है कि वो अपने बालों में शैंम्पू लगाते हैं कि नहीं.

यहां रुद्राक्ष बाबा के भी दर्शन हुए.

महंत सख्त गिरी अपने ताज और धूप का चश्मा लगाए हुए.

अपने टेंट के बाहर भोले बाबा का प्रसाद ग्रहण करते ये बाबा.

एक साथ भोजन करते कुछ नागा बाबा.

पंचायती अखाड़ा के साधु गंगा स्नान करने के लिए जाते हुए.

एक नागा बाबा के साथ फ़ोटो खिंचवाता एक विदेशी पर्यटक.

त्रिवेणी तट पर जाने से पहले डांस करते एक बाबा.

एक साथ गंगा स्नान करते नागा बाबा.

कार खींचकर अपनी ताकत का प्रदर्शन करते एक बाबा.

अपनी कुल देवी को स्नान कराते कुछ नागा बाबा.

अपनी लंबी जटाओं को दिखाते बाबा.

इन साधु और बाबाओं को देखकर ये कहना ग़लत न होगा कि ये भी किसी सेलेब्रिटी से कम नहीं.

Source: Twitter