सोशल मीडिया का ज़माना है भाई... कौन, कब और कैसे रातों रात स्टार बन जाये कुछ कहा नहीं जा सकता. डांसिंग किंग डब्बू अंकल हो या फिर चाय पी लो फ़्रेंड्स वाली आंटी, इन दिनों सोशल मीडिया में इन्हीं लोगों की धूम मची हुई है. एक दिन भी ऐसा नहीं होता जब इंटरनेट पर इस तरह का कोई वीडियो वायरल न हो रहा हो. कुछ लोग अपने फ़नी-फ़नी वीडियो यूट्यूब या किसी सोशल मीडिया माध्यम पर डालकर सुर्ख़ियां बटोरते हैं, तो कुछ लोग बिना कुछ किये ही स्टार बन जाते हैं.

इन दिनों सोशल मीडिया पर एक और मज़ेदार वीडियो ख़ूब वायरल हो रहा है. वैसे तो इस वीडियो में कुछ भी चमत्कारी होता हुआ दिख नहीं रहा है, जो सोशल मीडिया पर सुर्ख़ियां बटोरने लायक हो. लेकिन इस वीडियो के मुख्य पात्र का अभिनय देखने लायक है. एक्टिंग के मामले में इन भाई साहब को ऑस्कर मिलना चाहिए था.

दरअसल, ये घटना तमिलनाडु के कोयंबटूर की है. वीडियो में जो भाई साहब दिखाई दे रहे हैं, उनको फ़िट रहने का बड़ा शौक़ है. अपने इस शौक़ के साथ-साथ ये कुछ ऐसा भी कर डालते हैं जिसकी लोगों को कानों कान ख़बर भी नहीं लगती.

हमेशा की तरह ये जनाब बुधवार को भी मॉर्निंग वॉक पर निकले थे. लेकिन एक दुकान के बाहर लगे CFL बल्ब को देखकर इनका ईमान डोल गया. इनके शातिर दिमाग़ की हद तो तब पार हो गई जब ये उस CFL बल्ब को चुराने के लिए तिकड़म भिड़ाने लगे. दरअसल, ये दुकान सड़क किनारे थी ऐसे में लोगों का आना जाना तो लगा ही रहता है. लेकिन इनके सामने सबसे बड़ी चुनौती ये थी की बल्ब को उतारें कैसे?

इसके बाद शुरू हुआ मिशन CFL... जैसा कि हम पहले ही बता चुके हैं कि इनको एक्सरसाइज़ का बड़ा शौक है और CFL उतारने के लिए इससे बेहतर हथियार और क्या हो सकता है. इस दौरान ये जानब शरीर से तो एक्सरसाइज़ कर रहे थे, लेकिन इनके दिमाग़ में CFL गोते लगा रही थी. एक्सरसाइज़ करते-करते ये कभी उसके पास पहुंचते फिर सड़क पर गाड़ियों को देख ठहर जाते. इस दौरान ये जनाब अपने पहले प्रयास क़ामयाब नहीं हो सके. ये खेल पूरे दो मिनट तक यूं ही चलता रहा. आख़िरकार भाई साहब CFL चुराने में क़ामयाब रहे और वहां से चलते बने. मगर इनकी ये कारस्तानी सीसीटीवी में क़ैद हो गयी. हैरानी कि बात तो ये है कि कोई CFL बल्ब कैसे चुरा सकता है भाई?

मॉरल ऑफ़ द स्टोरी ये है कि Crime Never Pays!

Source: storypick