दुनिया के हर देश का एक इतिहास है. इतिहास में कई देश ऐसे थे जो सदियों तक गुलामों वाली ज़िंदगी जी रहे थे. कुछ देशों पर ज़बरन कब्ज़ा भी जमा लिया था. हांलाकि, एक देश ऐसा भी है जिस पर कई लोगों ने कब्ज़ा ज़माने की कोशिश की, लेकिन कामयाब नहीं हो पाये. इस देश का नाम है अफ़गानिस्‍तान. अफ़गानिस्तान को साम्राज्‍यों की कब्रिस्‍तान भी कहा जाता है. दरअसल, 1990 से लेकर अब तक यहां हर दिन ऐसी घटनाएं घटित होती रहती हैं, जिसकी वजह से इस Graveyard of Empires कहा जाने लगा.

अफ़गानिस्तान
Source: wsj

क्यों आज तक यहां कोई अपना कब्ज़ा नहीं जमा पाया 

अफ़गानिस्तान की गिनती उन देशों में होती है, जो सदियों से कई युद्धों का गवाह बना हुआ है. जानकारों को मानना है कि आप कितने ही ताक़तवर क्यों न हो, लेकिन इस देश न चाहते हुए भी शासन नहीं चला सकते. इतिहास में कई सल्‍तनतों के बादशाहों ने इस देश पर अपनी हुकू़मत चलाने की कोशिश की, लेकिन उन्हें वो सफ़ल नहीं हो पाये.  

ये भी पढ़ें: इन 20 अद्भुत तस्वीरों में देखें 20वीं सदी का अफ़ग़ानिस्तान, जानिए कैसी थी यहां की जीवनशैली 

country
Source: indianexpress

कई बार लोग युद्ध के मैदान में जीत भी जायें, तो अंत में हारकर उन्हें बाहर जाना पड़ता था. सोवियत संघ, ब्रिटिश शासन से लेकर अमेरिका तक ने यहां से भागने में भलाई समझी है. अफ़गानिस्तान में लोग स्थानीय शासन की मदद से अपना कारोबार कर सकते हैं, लेकिन विदेशियों हाथ मिलाना क़बूल नहीं है.  

युद्ध
Source: cdn

क्या कारण है जो आज तक यहां किसी का शासन नहीं चला 

अफ़गानिस्तान में किसी भी बाहरी शासक का शासन चलना मुश्किल ही नहीं, नामुमकिन है. इसकी एक नहीं बहुत सी वजहें हैं. दरअसल, अफ़गानिस्तान मध्‍य एशिया, ईरान और भारत के बीच मुख्‍य ज़मीनी रास्ते पर बना हुआ है. यहां कई बार हमला भी हो चुका है. इसी कारण यहां एक नहीं, बल्कि कई जनजातियों का निवास है.  

शासन
Source: patrika

हमले की वजह से इस देश के घरों और गांव को किले में निर्मित कर दिया गया. इसके साथ अफ़गानिस्तान की भौगोलिक परिस्थितियां भी ऐसी नहीं हैं कि वहां रहा जा सके. कई रिपोर्टों में ये कहा जा चुका है कि अफ़गानिस्तान पर किसी का भी हुक़ूमत करना मुश्किल है.