Indian Army Chief List: भारत को आज़ाद हुए 75 साल हो गए और आज भारत एक प्रजातंत्र और आबाद देश है. इसमें बड़ा योगदान भारतीय सेना का है क्योंकि आज़ादी के बाद भारत पर दुश्मन देशों ने युद्ध छेड़ा और भारतीय सेना के शौर्य और पराक्रम ने दुश्मन देशों के छक्के छुड़ा दिए. शायद यही वजह है कि जब भी भारतीय सेना का नाम लिया जाता है तब हमारा सीना गर्व से चौड़ा हो जाता है.

army
Source: theprint

हाल ही में भारत सरकार ने घोषणा की है कि लेफ़्टिनेंट जनरल मनोज पांडे (Lieutenant General Manoj Pande) भारत के नए आर्मी चीफ़ (Chief of Army Staff) के रूप में जल्द ही कार्यभार संभालेंगे. इस घोषणा से आपके मन में ये सवाल आया होगा कि हमारे देश में अब तक कौन-कौन आर्मी चीफ़ (Indian Army Chief List) के पद पर रहे हैं?  

general-manoj-pande
Source: thewire

इस आर्टिकल में हम आपको आज़ादी से लेकर अब तक कौन-कौन आर्मी चीफ़ (Indian Army Chief List) बने हैं वो बताने वाले हैं

ये भी पढ़ें:- इंडियन आर्मी की 21 ऐसी जबर्दस्त शाखाएं जो हमारे देश की आन-बान-शान हैं...

Indian Army Chief List

1. महाराज राजेन्द्र सिंह जडेजा (Rajendra Singhji Jadeja)  

Rajendra Singhji Jadeja
Source: wikipedia

महाराज राजेन्द्रसिंहजी 1 अप्रैल 1955 को भारतीय सेना के पहले आर्मी चीफ़ (First Indian Army Chief List) बने. इससे पहले के एम करिअप्पा 'कमांडर इन चीफ़' के पद पर थे. आर्मी चीफ़ को 1955 के पहले कमांडर इन चीफ़ कहा जाता था.   

2. सत्यवन्त मल्लान्नाह श्रीनागेश (S. M. Srinagesh)  

Srinagesh
Source: twitter

जनरल श्रीनागेश सेना के आर्मी चीफ़ बने थे, जिनका कार्यकाल 14 मई 1955 से 7 मई 1957 तक रहा है.   

3. के. एस. थिमैया (Kodandera Subayya Thimayya)  

Thimayya
Source: googleusercontent

के. एस. थिमैया 8 मई 1957 से 1961 तक भारत के आर्मी चीफ़  थे, उन्हें प्रशासकीय सेवा क्षेत्र में पद्म भूषण (Padma Bhushan) से सम्मानित किया जा चुका है.

4. प्राण नाथ थापर (Pran Nath Thapar)  

Pran Nath Thapar

के. एस. थिमैया के रिटायर्ड होने के बाद जनरल प्राण नाथ थापर को भारतीय सेना का आर्मी चीफ़ (Indian Army Chief List) बनाया गया.

5. जयंत नाथ चौधरी (Jayant Nath Choudhary)  

Jayant Nath Choudhary
Source: wikipedia

जनरल जयन्त नाथ चौधुरी आर्मी के एक जनरल ऑफ़िसर थे, जो 1962 से 1966 तक भारत के आर्मी चीफ़ रहे. भारतीय सेना से रिटायर्ड होने के बाद उन्हें कनाडा में भारत का High Commissioner नियुक्त किया गया.   

6. परमशिव प्रभाकर कुमारमंगलम (P P Kumaramangalam)  

Kumaramangalam
Source: medium

परमशिव प्रभाकर कुमारमंगलम 8 जून 1966 से 1969 तक भारत के आर्मी चीफ़ रहे, उन्हें प्रशासकीय सेवा में पद्म विभूषण (Padma Vibhushan) से सम्मानित किया गया है.   

7. सैम मानेकशॉ (Sam Manekshaw)  

Sam Manekshaw
Source: news9live

सैम मानेकशॉ 8 जून 1969 को आर्मी चीफ़ बने और उनकी लीडरशिप में भारत 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में विजयी रहा था. इन्हें पद्म विभूषण (Padma Vibhushan), पद्म भूषण (Padma bhushan) और मिलिट्री क्रॉस से सम्मानित किया गया है.   

8. गोपाल गुरुनाथ बेवूर (Gopal Gurunath Bewoor)  

Gopal Gurunath Bevoor
Source: salute

गोपाल गुरुनाथ बेवूर 16 जनवरी 1973 को आर्मी चीफ़ बने और उन्हें प्रशासकीय सेवा के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा पद्म भूषण (Padma Bhushan) और परम विशिष्ट सेवा पदक से सम्मानित किया गया.  

9. तपीश्वर नारायण रैना (Tapishwar Narain Raina)  

Tapishwar Narain Raina
Source: bharat-rakshak

जनरल तापेश्वर नारायण रैना भारतीय सेना में आर्मी चीफ़ बने (Indian Army Chief List) और बाद में, उन्होंने कनाडा के High Commissioner के रूप में कार्यभार संभाला.

10. ओम प्रकाश मलहोत्रा (O P Malhotra)  

O P Malhotra
Source: wikipedia

जनरल ओम प्रकाश मल्‍होत्रा 1978 से 1981 तक आर्मी चीफ रहे है. इसके बाद में उन्हें 1981 से 1984 तक इंडोनेशिया में भारत के राजदूत (Ambassador of India) रहे और 1990 से 1991 तक पंजाब के गवर्नर और चंडीगढ़ के प्रशासक रहे है.   

11. के वी कृष्ण राव (K V Krishna Rao)  

K V Krishna Rao
Source: indianexpress

जनरल कोटिकलापुडी वेंकट कृष्ण राव 1 जून 1981 को आर्मी चीफ़ (Indian Army Chief List) बने थे. इसके बाद, राव जम्मू और कश्मीर, मणिपुर, नागालैंड और त्रिपुरा के गवर्नर रहे हैं.   

12. अरुण श्रीधर वैद्य (A S Vaidya)  

A S Vaidya
Source: wikipedia

जनरल ए. एस. वैद्य भारतीय सेना आर्मी चीफ़ (Indian Army Chief List) थे. 1986 में पुणे में जनरल अरुण श्रीधर वैद्य की हत्या कर दी थी, उन्हें पद्म विभूषण, परम विशिष्ट सेवा पदक, महावीर चक्र और अति विशिष्ट सेवा पदक से सम्मानित किया गया है.   

13. कृष्णास्वामी सुंदरजी (Krishnaswamy Sundarji)  

Krishnaswamy Sundarji
Source: tosshub

जनरल कृष्णास्वामी सुंदरजी 1986 से 1988 तक भारतीय सेना के आर्मी चीफ़ (Indian Army Chief List) थे, इन्होंने ऑपरेशन ब्लू स्टार (Operation Blue Star) को ऑपरेट किया था.   

14. विश्वनाथ शर्मा (Vishwanath Sharma) 

Vishwanath Sharma
Source: timescontent

जनरल कृष्णास्वामी सुंदरजी के बाद जनरल विश्वनाथ शर्मा भारतीय सेना के आर्मी चीफ़ (Indian Army Chief List) बने. इन्हें परम विशिष्ट सेवा पदक और अति विशिष्ट सेवा पदक से नवाज़ा गया है.

15. सुनीत फ़्रांसिस रोड्रिग्स (Sunit Francis Rodrigues)  

Sunit Francis Rodrigues
Source: timescontent

सुनीत फ़्रांसिस रोड्रिग्स भारत के आर्मी चीफ़ (Indian Army Chief List) और पंजाब के गवर्नर रहे हैं. इन्हें परम विशिष्ट सेवा पदक और विशिष्ट सेवा पदक से नवाज़ा गया है.   

16. बिपिन चंद्र जोशी (Bipin Chandra Joshi)  

Bipin Chandra Joshi
Source: timescontent

सुनीत फ़्रांसिस रोड्रिग्स के बाद आर्मी चीफ़ का पद जनरल बिपीन चंद्र जोशी ने संभाला, उन्हें परम विशिष्ट सेवा पदक, अति विशिष्ट सेवा पदक और ADC से सम्मानित किया गया है.   

17. शंकर रॉय चौधरी (Shankar Roy Chowdhury)  

Shankar Roy Chowdhury
Source: wikipedia

जनरल शंकर रॉय चौधरी सेना के आर्मी चीफ़ रहे है. इसके बाद में वो भारतीय संसद के पूर्व सदस्य हैं.  

18. वेद प्रकाश मलिक (Ved Prakash Malik)  

Ved Prakash Malik
Source: assettype

जनरल वेद प्रकाश मलिक भारत के आर्मी चीफ़ बने. कारगिल युद्ध के दौरान उन्होंने बड़ी भूमिका अदा की थी, उनके इसी शौर्य के लिए उन्हें परम विशिष्ट सेवा पदक, AVSM और ADC से नवाज़ा गया है.   

19. सुंदरराजन पद्मनाभन (S Padmanabhan)  

Padmanabhan
Source: rediff

जनरल सुंदरराजन पद्मनाभन 1 अक्टूबर 2000 को भारतीय सेना के आर्मी चीफ़ बने थे, उनकी बहादुरी के लिए उन्हें परम विशिष्ट सेवा पदक, अति विशिष्ट सेवा पदक, विशिष्ट सेवा पदक और ADC से नवाज़ा गया है.  

20. निर्मल चंद्र विज (Nirmal Chander Vij)  

Nirmal Chandra Vij
Source: timescontent

जनरल निर्मल चंद्र विज भारतीय सेना के आर्मी चीफ़ (Indian Army Chief List) बने थे और वे 2003 से 2005 तक इस पद पर थे.   

21. जोगिन्दर जसवन्त सिंह (J J Singh)  

J J Singh
Source: businessworld

जनरल जोगिन्दर जसवन्त सिंह ने 2005 से 2007 तक आर्मी चीफ़ का पद संभाला. सिंह भारतीय सेना के लीडरशिप करने वाले पहले सिख सिपाही बने और सेना से रिटायर होने के बाद उन्हें अरुणाचल प्रदेश का गवर्नर बनाया गया था.   

22. दीपक कपूर (Deepak Kapoor)  

Deepak Kapoor
Source: outlookindia

जनरल दीपक कपूर ने 30 सितंबर 2007 को भारतीय सेना के आर्मी चीफ़ बनाया गया, उन्हें सेना के करियर में परम विशिष्ट सेवा पदक, अति विशिष्ट सेवा पदक, SM, विशिष्ट सेवा पदक और ADC से सम्मानित किया गया है.   

23. विजय कुमार सिंह (V K Singh)  

V K Singh
Source: wikimedia

जनरल विजय कुमार सिंह को 31 मार्च 2010 से आर्मी चीफ़ बनाया गया और 2012 तक वे इस पद पर थे. सेना से रिटायर्ड होने के बाद जनरल वी. के. सिंह नरेंद्र मोदी सरकार में मंत्री के पद पर हैं.   

24. बिक्रम सिंह (Bikram Singh)  

Bikram Singh
Source: indianexpress

जनरल वी. के. सिंह के बाद जनरल बिक्रम सिंह भारतीय सेना के आर्मी चीफ़ बने. ये जनरल जे. जे. सिंह के बाद आर्मी चीफ़ के पद पर आसीन होने वाले वे दूसरे सिख हैं. 

25. दलबीर सिंह सुहाग (Dalbir Singh Suhag) 

Dalbir Singh Suhag
Source: .indiastrategic

जनरल दलबीर सिंह सुहाग सेना के आर्मी चीफ़ बने, उन्हें परम विशिष्ट सेवा पदक, उत्तम युद्ध सेवा पदक, अति विशिष्ट सेवा पदक और विशिष्ट सेवा पदक से नवाज़ा गया है.   

26. बिपिन रावत (Bipin Rawat)  

Bipin Rawat
Source: dnaindia

जनरल बिपिन सिंह रावत 2016 से 2019 तक आर्मी चीफ के पद पर रहे, उसके बाद बिपिन सिंह रावत भारत के पहले रक्षा प्रमुख या चीफ़ ऑफ़ डिफ़ेंस स्टाफ़ (CDS) बने थे. आपको बता दें, 8 दिसंबर 2021 को, एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में जनरल रावत का निधन हो गया.  

27. मनोज मुकुंद नरवणे (Manoj Mukund Naravane)  

Manoj Mukund Naravane
Source: wikimedia

जनरल मनोज मुकुंद नरवणे वर्तमान में आर्मी चीफ़ के पद पर कार्यरत हैं, जो अप्रैल 2022 के अंत रहेंगे. जनरल बिपिन रावत की निधन के बाद मनोज मुकुंद नरवणे 15 दिसंबर 2021 से चीफ़ ऑफ़ स्टाफ़ कमेटी के अध्यक्ष बने.   

28. जनरल मनोज पांडे (Manoj Pande)   

Manoj Pande
Source: jagranjosh

मनोज मुकुंद नरवणे के बाद जनरल मनोज पांडे (Manoj Pande) भारत के नए आर्मी चीफ़ (Chief of Army Staff) के रूप में जल्द ही कार्यभार संभालेंगे. मनोज पांडे सेना प्रमुख बनने वाले पहले इंजीनियर है.  

ये भी पढ़ें:- 26 साल की लंबी लड़ाई के बाद मिला एक सैन्य अधिकारी को इंसाफ़, लगा आर्मी चीफ़ पर 5 करोड़ का जुर्माना