हम सब 'कोहिनूर' हीरे के बारे में जानते हैं. 19वीं सदी में अंग्रेज़ इसे लूट कर अपने देश ब्रिटेन ले गए थे. हमारे देश में अक्सर कोहिनूर की वापसी को लेकर चर्चा होती रहती है. लेकिन कोहिनूर के अलावा भी अंग्रेज़ भारत से कई सारी नायब चीज़ें लूट कर ले जा चुके हैं. आज हम आपको ऐसी 5 अनमोल धरोहरों के बारे में आपको बताएंगे जिन्हें अंग्रेज़ हमारे देश से लूट कर ले गए.

ये भी पढ़ें: कोहिनूर हीरे से जुड़े रोचक 6 तथ्य, किसी ने कहा Bad Luck तो किसी ने सिर के ताज पर लगाया 

1. भगवान हरिहर की मूर्ति

मध्य प्रदेश के खजुराहो में मंदिर से लूटी गई भगवान हरिहर की एक सुंदर मूर्ति ब्रिटिश संग्रहालय, लंदन में है. बलुआ पत्थर की ये मूर्ति अपने देश में लगभग 1,000 साल पहले बनायी गयी थी जिसे अंग्रेज़ लूट कर ले गए.

2. सुल्तानगंज की बुद्ध प्रतिमा

सुल्तानगंज की बुद्ध प्रतिमा एक प्राचीन विशाल तांबे प्रतिमा है. इसकी ऊंचाई लगभग 7.5 फुट है और यह 500 किलो भारी है. यह प्रतिमा बर्मिंघम आर्ट गैलरी में रखी हुई है.

buddha ki england me moorti
Source: wikimedia

3. टीपू सुल्तान की निजी संपत्ति

अंग्रेज़ों को छकाने वाले टीपू सुल्तान की मौत के बाद उनकी निजी संपत्ति अंग्रेज़ उठा कर ले गए. टीपू सुल्तान की तलवार, अंगूठी, इत्र और एक लकड़ी का बाघ ब्रिटेन के अलग अलग संग्रहालयों में आज भी रखा है.

Tipu Sultan in British Museum
Source: twitter

ये भी पढ़ें: जानिए, भारत के नूर 'कोहिनूर हीरे' की असल कहानी. कैसे ये गोलकोंडा से कंधार फिर ब्रिटेन पहुंचा

4. शाहजहां का Wine Cup

शाहजहां का शराब का प्याला सफे़द नेफ्राइट जेड (Wine Cup Of White Nephrite Jade) से बना हुआ है. इसे 19वीं शताब्दी में कर्नल चार्ल्स सेटन गुथरी द्वारा अधिग्रहित किया गया था. ये कप अभी विक्टोरिया और अल्बर्ट संग्रहालय में है.

Angrezo ke dwara loota gya saman
Source: wikimedia

5. महाराजा रणजीत सिंह का सिंहासन

महाराजा रणजीत सिंह का सिंहासन सुनार हाफ़िज़ मुहम्मद मुल्तानी ने 1820 से 1830 के बीच बनाया था. महाराजा रणजीत सिंह का ये सोने का सिंहासन भी अंग्रेज़ों के पास है. 20वीं सदी के अंत के दौरान इस सिंहासन पर भारत सरकार द्वारा समर्थित एक सिख क्षेत्रीय संगठन ने दावा किया था जिसे संग्रहालय द्वारा ख़ारिज कर दिया गया था.

mughal artifacts in british museum
Source: twitter

ये भी पढ़ें: दुनिया के ऐसे 10 अजब-ग़ज़ब संग्रहालय जिनके बारे में शायद किसी ने सोचा भी नहीं होगा 

वैसे जो हुआ उसे तो नहीं बदला जा सकता मगर कितना अच्छा होगा ना अगर अंग्रेज़ लूट का सारा सामान वापस कर दें!