Maahi

मैं माहीपाल सिंह बिष्ट, लेक सिटी नैनीताल से हूं. मैं ज़िंदगी को अपनी शर्तों पर जीने में विश्वास रखता हूं. आस-पास क्या हो रहा है उससे मुझे फ़र्क पड़ता हैं क्योंकि मैं भी एक सामाजिक प्राणी हूं. लिखना प्रोफ़ेशन भी और हॉबी भी. इसलिए लिखकर ही लोगों के दिलों में बसना चाहता हूं. मुझे लिखना, घूमना-फिरना, फ़ोटोग्राफ़ी और क्रिकेट खेलना बेहद पसंद है. टाइम पास करने के लिये मैं मोबाइल पर घंटों बिता सकता हूं. मेरी इंस्पिरेशन सड़क पर अपनी मेहनत से चना बेचने वाले से लेकर सरहद पर दूसरों के लिए लड़ने वाले जवान हैं. हर वो इंसान जो अच्छे विचारों के साथ जीता है वो मेरी इंस्पिरेशन है. मुझे लाइफ़ से बस ख़ुशी चाहिए! आख़िर में बस इतना ही कहूंगा कि, ख़ुश रहो और दूसरों के लिए ख़ुश रहने की वजह बनो.

साउथ के 'मिस्टर परफ़ेक्शनिस्ट' विक्रम की वो 10 फ़िल्में जो लीक से हटकर थी और सुपरहिट रही

जानिए 90s के मशहूर धारावाहिक 'चंद्रकांता' के क्रूर सिंह यानी अखिलेन्द्र मिश्रा आज कल कहां हैं

'लापतागंज' से लेकर 'चिड़ियाघर' तक, Sab TV के वो 8 बेहतरीन शो जो अब बस हमारी यादों में रह गए हैं

1500 करोड़ के महल से लेकर 38 हवाई जहाज तक, थाईलैंड का ये राजा है दुनिया का सबसे अमीर किंग

जानिए NDA और CDS में क्या अंतर होता है, इनमें से कौन है अफ़सर बनने के लिए बेहतर?

कभी डिलीवरी बॉय तो कभी थे सफ़ाईकर्मी, जानिए कौन हैं IPL में बल्ले से धमाका करने वाले रिंकू सिंह

शैलेश लोढ़ा एक्टर ही नहीं एक बेहतरीन कवि भी हैं, पेश हैं उनकी दिल छू लेने वाली 13 कविताएं

नैनो से ताज होटल पहुंचे रतन टाटा की सादगी ने जीता दिल, जानिये वो नैनो ही क्यों इस्तेमाल करते हैं