Maahi

मैं माहीपाल सिंह बिष्ट, लेक सिटी नैनीताल से हूं. मैं ज़िंदगी को अपनी शर्तों पर जीने में विश्वास रखता हूं. आस-पास क्या हो रहा है उससे मुझे फ़र्क पड़ता हैं क्योंकि मैं भी एक सामाजिक प्राणी हूं. लिखना प्रोफ़ेशन भी और हॉबी भी. इसलिए लिखकर ही लोगों के दिलों में बसना चाहता हूं. मुझे लिखना, घूमना-फिरना, फ़ोटोग्राफ़ी और क्रिकेट खेलना बेहद पसंद है. टाइम पास करने के लिये मैं मोबाइल पर घंटों बिता सकता हूं. मेरी इंस्पिरेशन सड़क पर अपनी मेहनत से चना बेचने वाले से लेकर सरहद पर दूसरों के लिए लड़ने वाले जवान हैं. हर वो इंसान जो अच्छे विचारों के साथ जीता है वो मेरी इंस्पिरेशन है. मुझे लाइफ़ से बस ख़ुशी चाहिए! आख़िर में बस इतना ही कहूंगा कि, ख़ुश रहो और दूसरों के लिए ख़ुश रहने की वजह बनो.

मैना कुमारी: नाना साहब की वो बहादुर बेटी जिसने 13 साल की उम्र में देश के लिए कर दी थी जान क़ुर्बान

'रामसे ब्रदर्स' की वो 10 हॉरर फ़िल्में, जिन्हें देख कर सिनेमा हॉल में लोगों की सांसें थम जाती थीं

'मैं धारक को…रुपये अदा करने का वचन देता हूं' जानिए भारतीय करेंसी नोट पर ये क्यों लिखा होता है?

इन 11 तस्वीरों के ज़रिये जानिए भारतीय सिनेमा की पहली कलर फ़िल्म 'किसान कन्या' बनने की पूरी कहानी

भारत के 10 सबसे अमीर शख़्स, जिनके लग्ज़री बंगले क़ीमत में ही नहीं दिखने में भी हैं बेहद ख़ास

केस नंबर AST/1/1800: भारत का सबसे पुराना केस जो 221 सालों से आज तक पेंडिंग है

दुनिया के वो 10 गेंदबाज़ जिन्होंने अपने इंटरनेशनल क्रिकेट करियर में नहीं फेंकी एक भी Wide Ball

टीवी और बॉलीवुड इंडस्ट्री के वो 11 सेलेब्स, जो बन चुके हैं जुड़वा बच्चों के पेरेंट्स