'परिवर्तन ही जीवन का नियम है', इसलिये समय आने पर इंसान हो या सामान सब बदल जाते हैं. अब ज़्यादा वक़्त ज़ाया न करते हुए सीधे मुद्दे पर आते हैं. अगर आपने इतिहास पढ़ा है, तो आपको पता होगा कि 12 दिसबंर 1911 में देश की राजधानी कलकत्ता से बदल कर दिल्ली कर दी गई थी. 107 साल पहले दिल्ली दरबार के तीसरे सत्र में राजा George V और उनकी पत्नी महारानी Mary ने इस बात की घोषणा की.

इन चंद तस्वीरों में देश की राजधानी के संघर्ष और कायापलट की झलक है, जिसे देख कर आपको य़कीन नहीं होगा कि आज कूल सी दिखने वाली दिल्ली कभी ऐसी भी थी:

1. 1911, दिल्ली दरबार का दृश्य.

2. देश की नई राजधानी की घोषणा के बाद का ऐतिहासिक पल.

3. 1916 में महाराजाओं का चेंबर ऐसा था.

4. 1925 में राष्ट्रपति भवन बनने की शुरुआत हुई.

5. ये तस्वीर 1927 Pakistan Delhi Muslim Proposal मीटिंग की है.

6. 1927 में दिल्ली के सफ़दजंग में पहला एयरपोर्ट बना.

7. 1928 में ज़ामा मस्ज़िद कुछ ऐसी दिखती थी.

8. 1929 की बात है, जब सेंट्रल असेंबली हाउस पर बमबारी की गई.

9. 1931 में इस तरह खड़ी की गई थी इंडिया गेट की नींव.

10. 1931 में Lutyen द्वारा नई दिल्ली की संरचना की जा रही थी.

11. सालों की मेहनत के बाद नई दिल्ली की ये ख़ूबसूरत तस्वीर सामने आई. 1931 में इसका उद्घाटन देश के तत्कालीन सूबेदार Lord Irwin ने किया था.

12. 1934 असबेंली इलेक्शन के दौरान दिल्ली के टाउन हॉल के बाहर वोटिंग, कतार में खड़े वोटर्स.

13. Secretariat Building की तस्वीर भी 1934 की है.

14. 1936, राष्ट्रपति भवन का भव्य दृश्य.

15. जब एक साथ नज़र आये महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू और अब्दुल गफ़्फ़ार ख़ान. ये फ़ोटो 1937 में ली गई थी.

16. 1942 के दौरान इस्तेमाल होने वाले ऐसे रिक्शे आज गायब हो चुके हैं.

17. 1943, एक समय वो भी था जब दिल्ली की सड़कों पर Tram दिखाई देते थे.

18. Muslim League Council मीटिंग की ये तस्वरी 1943 की है.

19. 1946 में पहली बार आयोजित हुई थी Constituent Assembly मीटिंग.

20. लाल किले पर लहराता तिरंगा, तस्वीर 1947 की है.

21. 1947 में आज़ाद भारत को संबोधित करते हुए नेहरू.

22. 1947, परेड करती ब्रिटिश इंडिया आर्मी.

23. नई दिल्ली के पास ट्रेन में चढ़ने की जद्दोज़हद करते लोग, 1947 में ये लोग भारत छोड़कर जा रहे थे.

24. 1951 में पहली बार दिल्ली में एशियन गेम्स का आयोजन हुआ.

25. 1966 की ये फ़ोटो Beatles की है.

26. 1969 में राजधानी का पहला सफ़र शुरू हुआ था.

27. चांदनी चौक हमेशा से ही सबसे व्यस्त इलाका रहा है. सबूत 1972 की ये तस्वीर है.

28. 1975 में इमरजेंसी के दौरान लाल किले के आस-पास के इलाके को इस तरह तहस-नहस कर दिया गया था.

29. 1984 में हुए दंगों में इस तरह एक-दूसरे की जान लेने पर उतारू थे लोग.

30. 2002, दिल्ली मेट्रो का उद्घाटन करते हुए लाल कृष्ण अडवाणी.

31. 2010 में 19वें Commonwealth Games का आयोजन दिल्ली में हुआ था.

32. 2015 में आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में सरकार बना कर ज़बरदस्त आगाज़ किया.

बदलते वक़्त के साथ कितना ज़्यादा बदल गई है दिल्ली, है न?

Source : SW