आग में जलकर लोहा बनने वाला इंसान ही, आग की जलन महसूस कर सकता है. इसका तात्पर्य है कि दूसरों का दर्द वही समझता है, जो कभी ख़ुद दर्द में रहा हो. मुश्किल घड़ी में जिस तरह सोनू सूद ने लोगों की मदद का ज़िम्मा उठाया, उसके लिये कुछ भी कहना कम ही लगता है. अभिनेता के रूप में वो कई लोगों के मसीहा बन गये हैं. शायद उन्होंने परेशान लोगों का दर्द इसलिये भी समझा, क्योंकि एक वक़्त पर उन्होंने भी ख़ूब संघर्ष किया.

उनके संघर्ष का सबूत इन दिनों सोशल मीडिया पर ख़ूब शेयर किया जा रहा है. दरअसल, ट्विटर पर एक फ़ैन ने सोनू सूद का 23 साल पुराना लोकल पास शेयर किया है. 420 रुपये का ये पास जुलाई 1997 का है. उस वक़्त सोनू सूद की उम्र 24 साल थी. मुंबई लोकल पास की एक्सपायरी डेट मार्च 1998 लिखी हुई है. फ़ैन ने पास की फ़ोटो शेयर करते हुए लिखा, 'जिसने सच में संघर्ष किया हो उसे दूसरे लोगों की पीड़ा समझ में आती है, सोनू सूद कभी ₹420 वाली लोकल का पास लेकर सफ़र किया करते थे'.

Sonu Sood
Source: zoomtventertainment

फ़ैन के ट्वीट का जवाब देते हुए सोनू सूद ने लिखा, 'ज़िंदगी एक पूरा गोला है.' सोनू सूद इस पास के ज़रिये मुंबई लोकल से बोरीवली और चर्चगेट तक का सफ़र तय करते थे. इस पास से ये तो साबित हो गया कि उनके संघर्षों ने ही उन्हें एक कामयाब अभिनेता और इंसान बनाया.

सोनू सूद जिस तरह से एक इंसान के ट्वीट का जवाब दे रहे हैं. वो वाकई बहुत ही अच्छा है. हांलाकि, बीच-बीच में उन्हें कई मज़ेदार ट्वीट्स भी आते हैं, जिनका जवाब भी काफ़ी मज़ेदार होता है.

काश हर कोई सोनू सूद जैसा बड़ा दिल रख पाता.

Entertainment के और आर्टिकल्स पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.