Akshaye Khanna Best Roles : हाल ही में अजय देवगन और अक्षय खन्ना स्टारर फ़िल्म ‘दृश्यम 2‘ रिलीज़ हुई. मूवी ने रिलीज़ के पहले दो दिन 37 करोड़ की बंपर कमाई की. इसे IMDb पर भी 9.0 की रेटिंग भी मिली है. इस फ़िल्म के साथ अक्षय खन्ना (Akshaye Khanna) ने एक बार फिर दिखा दिया कि वो कितने कमाल के एक्टर हैं. वो उन स्टीरियोटिपिकल हीरो में से नहीं हैं, जिन्हें अक्सर लोग ऑन-स्क्रीन देखना पसंद करते हैं. उनकी रोल्स की चॉइस ये साबित भी करती है कि उन्हें किसी भी स्टीरियोटाइप में फ़िट होना पसंद ही नहीं है. उन्हें अपने रोल्स के साथ एक्सपेरिमेंट करना पसंद है. यही वजह है कि उन्होंने ख़ुद के लिए एक यूनिक स्पेस क्रिएट कर रखी है. 

आइए आपको अक्षय खन्ना द्वारा निभाए गए कुछ उम्दा कैरेक्टर के बारे में बता देते हैं, जो साबित करते हैं कि वो कितने अंडररेटेड एक्टर हैं. 

1. फ़िल्म ‘हमराज़’ में ‘करन’

इस मूवी की शुरुआत में अक्षय खन्ना को एक रोमांटिक हीरो दिखाया जाता है, लेकिन इसमें धीरे-धीरे ट्विस्ट आता चला जाता है. कहानी में धीरे-धीरे पता चलता है कि अक्षय का कैरेक्टर अपनी गर्लफ्रेंड ‘प्रिया’ (अमीषा पटेल) के साथ एक अमीर बिज़नेसमैन को मारने की प्लानिंग रच रहा है. स्टोरी में आगे करण अपनी गर्लफ्रेंड की शादी उस बिज़नेसमैन ‘राज’ (बॉबी देओल) से करा देता है और उसे भी धोखा देता है. इस फ़िल्म के प्लॉट में अक्षय का कैरेक्टर धीरे-धीरे निगेटिव होता जाता है. इस मूवी के लिए अक्षय खन्ना को IIFA में बेस्ट विलेन का अवार्ड भी मिल चुका है.

imdb

ये भी पढ़ें: राजेश खन्ना: एक ऐसा अभिनेता जिसकी दीवानी थीं लड़कियां, उनकी गाड़ी की धूल से भर लेती थीं मांग

2. फ़िल्म ‘ताल’ में ‘मानव मेहता’

इस फ़िल्म ने हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री में तूफ़ान ला दिया था. इसकी कहानी में बिज़नेसमैन मानव मेहता (अक्षय खन्ना) को एक ग़रीब सिंगर की बेटी मानसी (ऐश्वर्या राय) से प्यार हो जाता है. लेकिन उनके रिश्ते में परेशानियां तब आने लगती हैं, जब मानव के पिता मानसी की आर्थिक स्थिति को देखते हुए उनके रिश्ते को नकार देते हैं. इस फ़िल्म में अक्षय खन्ना के कैरेक्टर से आपको नफ़रत करने का मन भी करेगा, लेकिन उसके साइड की स्टोरी को भी आप इग्नोर नहीं कर पाएंगे. 

news18

3. फ़िल्म ‘इत्तेफ़ाक़’ में ‘देव वर्मा’

इस फ़िल्म में अक्षय खन्ना ने एक जांच अधिकारी ‘देव वर्मा‘ का क़िरदार निभाया है. एक जांच अधिकारी की भूमिका निभाते हुए, देव वर्मा को दोहरे हत्याकांड का पता लगाने के लिए केस दिया जाता है. इसमें सिद्धार्थ मल्होत्रा और सोनाक्षी सिन्हा भी लीड रोल में थे. लेकिन अक्षय की परफॉरमेंस सब पर भारी पड़ गई.

4. फ़िल्म ‘दिल चाहता है’ में ‘सिद्धार्थ’

ये मूवी तीन दोस्तों पर आधारित है, जो एक-दूसरे से बिल्कुल विपरीत हैं. एक महत्वाकांक्षी है, दूसरे को लगता है कि उसे प्यार हो रहा है और तीसरा वाला काफ़ी मैच्योर है. फ़िल्मी रोल से ब्रेक लेते हुए अक्षय खन्ना ने इस फ़िल्म के ज़रिए अपनी एक ऐसी साइड दिखाई, जो एक यंग एक्टर से कोई इमेजिन नहीं कर सकता. अक्षय को इसमें एक अपने से उम्रदराज़ औरत के प्यार में पड़ते हुए दिखाया गया है और साथ ही उसे इस बात को ज़ाहिर करने में कोई संकोच नहीं है. इस कैरेक्टर को अक्षय ने काफ़ी उम्दा तरीक़े से निभाया है.

pinkvilla

ये भी पढ़ें: दृश्यम से लेकर मदारी तक, इन OTT प्लेटफॉर्म्स पर देखिए निशिकांत कामत की ये 7 बेहरीन फ़िल्में

5. फ़िल्म ‘सेक्शन 375’ में ‘तरुण सलूजा’

क्या ऐसी कोई चीज़ है, जो ये व्यक्ति नहीं कर सकता है? विलेन से लेकर पुलिस का क़िरदार निभाने के बाद अक्षय ने इस फ़िल्म में एक ‘तरुण सलूजा’ नाम के एक वकील की भूमिका निभाई है, जो एक वैध कारण के लिए कानूनी लड़ाई लड़ रहे हैं. अक्षय निश्चित रूप से फ़िल्म का बजट नहीं, बल्कि कंटेंट देखते हैं और आज की तारीख़ में बस यही चीज़ मायने रखती है. 

scroll

6. फ़िल्म ‘मॉम’ में ‘मैथ्यू’

ये एक्ट्रेस श्रीदेवी की आख़िरी फिल्म थी. लेकिन इस मूवी को कमाल का बनाने के लिए इसमें अक्षय खन्ना और नवाज़ जैसे एक्टर मौजूद थे. फ़िल्म में श्रीदेवी अपनी सौतेली बेटी के रेप का बदला लेने के लिए निकल पड़ी हैं. इसमें अक्षय ने एक सीबीआई अफ़सर मैथ्यू का क़िरदार निभाया है, जो श्रीदेवी के हत्या करने के इरादे पर नज़र रख रहा है. लेकिन जब आख़िरी रेपिस्ट भी बच कर भाग जाता है, तो अक्षय, श्रीदेवी के हाथ में उसे गोली मारने के लिए बन्दूक थमा देते हैं. अक्षय का रोल बहादुर और इमोशनल है. इसे देखकर आप चाहेंगे कि असल ज़िन्दगी में भी ऐसे ही पुलिसकर्मी होने चाहिए.

7. फ़िल्म ‘रेस’ में ‘राजीव सिंह’

इस मूवी की गिनती बॉलीवुड की सस्पेंस थ्रिलर फ़िल्मों में की जाती है. इसके हर 20 मिनट में एक नया ट्विस्ट देखने को मिला था. अक्षय का कैरेक्टर ही एकमात्र ऐसा था, जो फ़िल्म में कई बदलावों से गुज़रा था. एक बिंदास भाई, एक प्यार करने वाला बॉयफ्रेंड से लेकर वो व्यक्ति जो अपने भाई की मौत का प्लान बनाता है और गर्लफ्रेंड बिपाशा बसु के साथ रिलेशनशिप में होने का नाटक करता है. अक्षय कुमार का इस फ़िल्म में ट्रांसफ़ॉर्मेशन आपको पूरी मूवी में अचंभित करेगा. ये मूवी काफ़ी हिट गई थी. 

punjabigram