Atul Kulkarni Iconic Roles– अभिनेता अतुल कुलकर्णी भारतीय सिनेमा के ज़बरदस्त एक्टर हैं. जो अपनी एक्टिंग से किरदार में जान डाल देते हैं. इसमें कोई दोराय वाली बात नहीं कि अतुल कॉमेडी और डार्क जैसे हर रोल को बखूबी निभाना जानते हैं. साथ ही अतुल बेहतरीन लेखक भी हैं. वो आमिर खान की फ़िल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ के स्क्रीनराइटर भी हैं. इस वजह से भी अतुल इन दिनों चर्चा में हैं. चलिए हम उनके फ़िल्मी करियर को और भी विस्तार से जानते और समझते हैं.


NSD (National School Of Drama) से पास आउट हुए अतुल ने सन 2000 में मराठी फ़िल्म ‘कैरी’ से डेब्यू किया था. अगर वर्सटैलिटी की बात हो, तो अतुल ने हिंदी, मराठी, इंग्लिश, तेलुगू, मलयालम, कन्नड़ जैसी हर भाषा में फ़िल्में कर चुके हैं. अतुल अपनी फ़िल्म्स ‘रंग दे बसंती’, ‘हे राम’ के लिए बहुत पॉपुलर हैं. 10 साल की उम्र से एक्टिंग शुरू करने वाले अतुल आज हिंदी सिनेमा के टॉप एक्टर हैं. चलिए इसी क्रम में आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से अतुल कुलकर्णी के 10 आइकॉनिक किरदार के बारे में बताएंगे. 

चलिए नज़र डालते हैं अतुल कुलकर्णी के मुख्य किरदारों पर(Atul Kulkarni Iconic Roles)- 

1- फ़िल्म ‘रंग दे बसंती’ 2006 में अतुल ने ‘लक्ष्मण पांडेय’ का किरदार निभाया था.

2- फ़िल्म ‘भेट’ 2000 में अतुल ने सतीश का क़िरदार निभाया था.

3- फ़िल्म ‘उग्रमम’ में अतुल ने धीरज का क़िरदार निभाया था.

4- फ़िल्म ‘मणिकर्णिका’ में अतुल तात्या टोपे का क़िरदार निभाया था.

5- फ़िल्म ‘पोपट’ में अतुल ने Janya का क़िरदार निभाया था.

6- फ़िल्म ‘जंगली’ में अतुल कुलकर्णी ने केशव का रोल निभाया था.

7- फ़िल्म ‘रईस’ में अतुल कुलकर्णी का नाम जयराज सेठ था.

8- OTT सीरीज़ ‘ बंदिश बैंडिट्स’ में अतुल कुलकर्णी का नाम दिग्विजय राठौड़ था.

9- फ़िल्म ‘द गाज़ी अटैक’ में अतुल कुलकर्णी का नाम देवराज था.

10- OTT सीरीज़ ‘द राइकार केस’ में अतुल कुलकर्णी का नाम यशवंत नाईक था. 

gqindia.com