भारतीय सिनेमा में जब-जब अद्भुत और अविस्मरणीय काम का ज़िक्र होगा तो बिमल रॉय का नाम ज़रूर लिया जाएगा. इनकी बेहतरीन फ़िल्मों में बंदिनी, सुजाता, परिणीता और दो बीघा ज़मीन हैं. इन्होंने अपनी फ़िल्मों के ज़रिए सामाजिक मुद्दों पर भी अकसर बात की है. मगर भारतीय सिनेमा और बिमल रॉय का साथ बहुत लंबा नहीं रहा. 8 जनवरी 1966 में 56 साल की उम्र में कैंसर के चलते उनका निधन हो गया था. बिमल रॉय के काम को सम्मानित करते हुए उन्हें नेशनल अवॉर्ड और फ़िल्मफ़ेयर अवॉर्ड से भी नवाज़ा गया था.

bimal roy
Source: amarujala

उनकी कुछ बेहतरीन फ़िल्मों पर एक नज़र डालते हैं:

1. काबुलीवाला

Bimal Roy
Source: imdb

इस फिल्म के लिए बिमल रॉय ने निर्माता बनने की ओर अपना कदम बढ़ाया था. हेमेन गुप्ता द्वारा निर्देशित इस फ़िल्म को टैगोर की कहानी का सबसे सफ़ल रूपांतरण माना जाता है.

2. परिणीता

Bimal Roy
Source: upperstall

बिमल रॉय ने इस क्लासिक रवींद्रनाथ टैगोर की कहानी को बड़े पर्दे पर परिणीता के नाम से उतारा था. इसमें मीना कुमारी और अशोक कुमार मुख्य भूमिका में थे.

3. देवदास

Bimal Roy
Source: blogspot

दिलीप कुमार की मुख्य भूमिका वाली इस क्लासिक फ़िल्म में बिमल रॉय ने शरतचंद चटोपाध्याय के उपन्यास देवदास की कहानी को फ़िल्म के ज़रिए दर्शाया था. इस फ़िल्म में वैजयंतीमाला और सुचित्रा सेन भी थीं. फ़िल्म को चार अवॉर्ड मिले थे.

4. बंदिनी

Bimal Roy
Source: arthousecinema

ये फ़िल्म नारी प्रधान थी. इसमें अशोक कुमार, धर्मेन्द्र और नूतन मुख्य भूमिका में थे. फ़िल्म को 6 फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कारों से नवाज़ा गया था जिसमें सर्वश्रेष्ठ फ़िल्म पुरस्कार भी शामिल था.

5. यहूदी

Bimal Roy
Source: youtube

इस फ़िल्म की कहानी आगा हशर कश्मीरी के नाटक यहूदी की लड़की पर आधारित थी. इसमें दिलीप कुमार, मीना कुमारी, सोहराब मोदी, नासिर हुसैन, निगर सुल्ताना और अन्य ने अभिनय किया था.

6. सुजाता

Bimal Roy
Source: muvizz

फ़िल्म सुजाता में मुख्य भूमिका सुनील दत्त और नूतन ने निभाई थी. ये फ़िल्म भारत में प्रचलित छुआछूत की कुप्रथा पर आधारित थी. इस फ़िल्म में ब्राहम्ण और अछूत की कहानी थी. इस फ़िल्म को 1959 में फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ फ़िल्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया था.

7. परख

Bimal Roy
Source: rediff

फ़िल्म परख लोकतंत्र पर एक कटाक्ष थी. इसमें लव स्टोरी के ज़रिए लालच और चालाकी को बख़ूबी दर्शयाा गया था. फ़िल्म ने सर्वश्रेष्ठ निर्देशक सहित तीन पुरस्कार जीते थे. इसमें मोतीलाल, साधना, दुर्गा खोटे सहित कई दिग्गज कलाकार भी शामिल थे.

8. मधुमती

Bimal Roy
Source: dnaindia

पुनर्जन्म की कहानी में गढ़ी गई फ़िल्म मधुमती सुपरहिट फ़िल्म थी. ये बिमल रॉय की पहली व्यावसायिक फ़िल्म थी और उनकी इस फ़िल्म ने 10 अवॉर्ड जीते थे. इसमें वैजयंतीमाला और दिलीप कुमार मुख्य भूमिका में थे.

9. दो बीघा ज़मीन

Bimal Roy
Source: theprint

अकाल से पीड़ित किसान पिता-पुत्र की जोड़ी के संघर्ष को दर्शाती ये फ़िल्म पहली फ़िल्म थी जिसने सर्वश्रेष्ठ फ़िल्म का पुरस्कार जीता था. इतना ही नहीं, ये पहली भारतीय फ़िल्म थी जो कांस फ़ेस्टिवल में भेजी गई थी और इंटरनेशनल प्राइज़ भी जीता था.

Entertainment से जुड़े आर्टिकल ScoopwhoopHindi पर पढ़ें.