90 के दशक में बहुत से पॉप स्टार्स ने अपनी गायकी से धूम मचा दी थी. इन्हीं में से एक फ़ॉल्गुनी पाठक भी हैं. 90 के दशक के सभी बच्चे फ़ाल्गुनी पाठक के गाने सुन-सुन कर ही बड़े हुए हैं. हांलाकि, कुछ समय बाद उन्होंने नवरात्री गाने गाना शुरू कर दिया और अपने गानों से फ़ैंस को एंटरटेन करती रहीं.

falguni
Source: indiatimes

फिलहाल, लॉकडाउन में वो अपने पड़ोसियों को एंटरटेन कर रही हैं. दरअसल, सोशल मीडिया पर फ़ाल्गुनी पाठक का एक वीडियो ख़ूब शेयर किया जा रहा है. वीडियो में फ़ाल्गुनी पाठक अपनी बालकनी पर खड़े होकर पड़ोसियों के लिए गा रही हैं. फ़ाल्गुनी पाठक राजेश ख़न्ना स्टारर फ़िल्म आनंद का 'कहीं दूर जब दिन ढल जाये' गाना गा रही हैं.' वहीं पड़ोसी भी फ़ाल्गुनी पाठक के गाने को मंत्रमुग्ध हो कर सुन रहे हैं.

फ़ाल्गुनी पाठक को 90 के दशक की इंडी-पॉप म्यूज़िक क्वीन भी बुलाया जाता था. वो दौर भी था जब हर तरफ़ बस 'मैंने पायल है छनकाई' और 'मेरी चुनर उड़-उड़ जाये', बजते हुए सुनाई देते थे. पर अब उनका मेन फ़ोकस नवरात्री गीतों पर रहता है. इसके साथ ही वो पॉप धुनों के साथ गुजराती गीत भी तैयार करती हैं.

फ़ैंस काफ़ी समय से फ़ाल्गुनी के गीतों को मिस कर रहे थे और इस वीडियो ने सभी का दिल ख़ुश कर दिया.

कितने लकी हैं सिंगर के पड़ोसी, जिन्हें लॉकडाउन में भी सिंगर की लाइव फ़ॉर्मेंस देखने का मौका मिला.

Entertainment के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScooWhoop Hindi पर क्लिक करें.