डॉयरेक्टर महबूब ख़ान की 1957 में आई आइकॉनिक फ़िल्म ‘मदर इंडिया’ (Mother India) कहानी से लेकर नौशाद के गानों तक हर मामले में ख़ास थी. इस फ़िल्म को इतनी लोकप्रियता मिली थी कि ये फ़िल्म ऑस्कर में नॉमिनेट होने वाली पहली फ़िल्म थी. हर लिहाज़ से परफ़ेक्ट होने के बावजूद भी इसमें एक ग़लती थी, जो शायद ही कोई पकड़ नहीं पाया. ये बड़ी ग़लती फ़िल्म के एक गाने में हुई थी, जिसे राजकुमार (Raj Kumar) और नरगिस (Nargis) पर फ़िल्माया गया था.

Mother India became a definitive cultural classic
Source: dnaindia

ये भी पढ़ें: किस्सा: शादी के बाद सुनील दत्त को मदर इंडिया के किरदार बिरजू के नाम से ही बुलाती थीं नरगिस दत्त

ये गाना 'दुख भरे दिन बीते रे भइया' था, जिसके संगीतकार नौशाद थे. इस गाने को चार गायकों मन्ना डे, मोहम्मद रफ़ी, शमशाद बेग़म और आशा भोसले ने गाया था. जब ये गाना राजेंद्र कुमार पर फ़िल्माया जा रहा था तब इसमें राज कुमार और नरगिस के फ़्लैशबैक के भी कुछ सीन थे. इस गाने में चूक डायरेक्टर महबूब से तब हुई थी, जब वो नरगिस और राजकुमार के साथ फ़्लैशबैक वाला गाना शूट कर रहे थे. तब एक ही समय में मन्ना डे और मोहम्मद रफ़ी की आवाज़ राज कुमार पर फ़िल्मा दी गई थी और नरगिस पर एक ही समय में शमशाद बेग़म और आशा भोसले की आवाज़ फ़िल्मा दी गई थी.

Source: media-amazon

ये भी पढ़ें: आख़िर नरगिस क्यों नहीं पहनती थीं पति सुनील दत्त की गिफ़्ट की हुई साड़ी, जानें क्‍या था राज?

दरअसल, नरगिस पहली बार शमशाद बेग़म की आवाज़ में 'देख रे घटा घिर के आई' गाती हैं, फिर दूसरी लाइन आशा भोंसले की आवाज़ में 'रस भर भर लाई' गाती हैं. ऐसा ही राजकुमार के साथ हुआ था, पहले वो मो. रफ़ी की आवाज़ में 'छेड़ ले गोरी मन की बीना', फिर मन्ना डे की आवाज़ में 'रिमझिम रुत छाई' गाते हैं. गाना आप नीचे सुन सकते हैं.

इस वाक्ये के बारे में नौशाद साहब के बेटे राजू नौशाद ने सदाबहार फ़नकार नाम के यू-ट्यूब चैनल को एक इंटरव्यू में बताया था, कि 

जब फ़िल्म का म्यूज़िक एल्बम नौशाद साहब ने सुना तो वो अपना सिर पकड़ कर बैठ गए, क्योंकि ये चूक कोई नहीं पकड़ सका था, उन्होंने तुरंत महबूब ख़ान को ये ग़लती बताई.

इस बात को सुनकर महबूब ख़ान भी सकते में आ गए, लेकिन उन्होंने कहा कि बहुत पैसा और समय ख़र्च हुआ है इसलिए शूट दोबारा नहीं होगा. तब नौशाद साहब ने कहा, कि गाने में इतने जज़्बात हैं कि कोई भी इस ग़लती पर ध्यान नहीं देगा और वही हुआ भी. फ़िल्म रिलीज़ हुई और गाना सुपर-डुपर हिट हुआ.

mother india's song written by naushad
Source: media-amazon

आपको बता दें, ‘मदर इंडिया’ महबूब ख़ान साहब की 1940 में आई फ़िल्म ‘औरत’ का रीमेक थी. ये फ़िल्म 25 अक्टूबर 1957 को रिलीज़ हुई थी, जिसमें नरगिस, सुनील दत्त, राजेंद्र कुमार और राज कुमार मुख्य भूमिका में थीं.