TVF की वेबसीरीज़ 'पंचायत' देखी है? देखी hi होगी तो उसका एक-एक कैरेक्टर अच्छे से याद होगा. चाहे वो विकास हो, प्रधान हो उप-प्रधान या फिर प्रधान पति हो. गांव की कहानी बताती है इस सीरीज़ में एक और किरदार है वो हैं हमारे सचिव सचिव जी. इस किरदार का नाम अभिषेक त्रिपाठी है और इस किरदार को निभाने अभिनेता का नाम जितेंद्र कुमार है. 

Inspiring Story of actor Jitendra kumar
Source: irstindia

अभिषेक त्रिपाठी की कहानी में हर वो युवा अपने आपको देखेगा, जो ग़लत जॉब मं फंसे हुए हैं. एक बेहतर ज़िंदगी के लिए लड़ रहे हैं और अपने सपनों को पूरा करने में जी जान से लगे हुए हैं. अभिषेक का सपना है CAT पास करके MBA करने का, जिसके लिए वो हर कोशिश करता है.

Inspiring Story of actor Jitendra kumar
Source: scrol

जितेंद्र का ये किरदार कहीं न कहीं उनकी असल ज़िंदगी से भी मेल खाता है. क्योंकि वो भी अपने एक्टर बनने के सपने को पूरा करने के लिए एक ऐसी जॉब कर रहे थे जिसमें उनका मन नहीं लग रहा था. ये MNC में एक जॉब थी, जहां उन्होंने 8 महीने काम किया. 

Inspiring Story of actor Jitendra kumar
Source: dailyo

मगर जब होनी को कुछ और मंज़ूर हो तो किस्मत बदलती ही है. जितेंद्र की किस्मत भी बदली और उन्होंने अपने कॉलेज सीनियर और दोस्त बिस्वापति सरकार के साथ Good-Natured Ragging Session से अपने करियर की शुरूआत की. यहां उन्होंने 'The Scent Of A Woman' में शानदार अंग्रेज़ी बोलकर अपने अभिनय का सुबूत दिया. 

Inspiring Story of actor Jitendra kumar
Source: businessworld

इसके तुरंत बाद, जितेंद्र और बिस्वापति ने आईआईटी-खड़गपुर जॉइन किया, जहां दोनों Hindi Dramatics Society का हिस्सा थे.

फिर साल 2012 में बिस्वापति ने जितेंद्र को TVF का ऑफ़र दिया. इसके बाद जितेंद्र ने TVF के प्रोग्राम 'कुंवर सा' किया. इसी दौरान Zoom के साथ हुए इंटरव्यू में जितेंद्र ने कहा, 

एक्टिंग चुनना आसान नहीं था, न ही ये चॉइस तुरंत ली हुई थी. वो बचपन से ही मिमिक्री किया करते थे.
Inspiring Story of actor Jitendra kumar
Source: quora

इसके बाद जितेंद्र ने अपनी फ़ैमिली के ख़िलाफ़ जाकर जॉब छोड़ दी और मुंबई की ओर अपना रुख़ किया. फ़िल्म कोटा फ़ैक्टरी में उनके किरदार की तरह जितेंद्र असल ज़िंदगी में भी फ़िज़िक्स के टीचर थे.

हालांकि समय लगा, लेकिन उनके कैरेक्टर को पहचान मिली और यूट्यूब पर इनके शो 'Pitchers' को ख़ूब सराहा गया. जब जितेंद्र की फ़िल्म 'गॉन केश' आई, तो उनके परिवार को भी उनकी प्रतिभा पर विश्वास होने लगा. इसके बाद 'शुभ मंगल ज़्यादा सावधान' का ट्रेलर रिलीज़ हुआ, जिसके लिए उनका परिवार 1200 सीटों के साथ एक हॉल बुक करना चाहता था, ताकि वे सभी को स्क्रीनिंग के लिए आमंत्रित कर सकें.

Inspiring Story of actor Jitendra kumar
Source: openthemagazine

पंचायत के अभिषेक त्रिपाठी, कोटा फ़ैक्ट्री के जीतू भैया या शुभ मंगल ज़्यादा सावधान के अमन त्रिपाठी हों, ये सब किरदार इसलिए यादगार हुए क्योंकि राजस्थान के जितेंद्र कुमार ने हर किरदार में अपने छोटे से अनुभव को डाल दिया. इसलिए आम लोग इन किरदारों से बख़ूबी जुड़ पाए.

अपने बेहतरीन अभिनय के दम पर आप ऐसे ही अपने फ़ैंस को इंटरटेन करते रहें.

Entertainment से जुड़े आर्टिकल ScoopWhoop हिंदी पर पढ़ें.