लॉकडाउन की वजह से जो इंसान जहां था वहीं रह गया. लॉकडाउन से पहले कैंसर सर्वाइवर अभिनेत्री नफ़ीसा अली भी गोवा में थी और इसके बाद वहीं फ़ंसी रह गईं.

Nafisa_Ali
Source: wikipedia

जैसा की सब जानते हैं कि वो एक कैंसर मरीज़ हैं इसलिये उन्हें ख़ास खान-पान और दवाईयों की ज़रूरत होती है. पर लॉकडाउन की वजह से न तो उन्हें ढंग का खाना मिल पा रहा था और न ही दवाईयां. अपने इस दर्द को साझा करते हुए अभिनेत्री ने लिखा कि पिछले 6 दिनों से किराने की दुकानें बंद हैं. मैं कैंसर सर्वाइवर हूं. मुझे उचित भोजन की ज़रूरत है. पिछले कुछ दिनों से मैं सिर्फ़ रॉ राशन खा रही हूं. कोई सब्ज़ी या फल नहीं. मैं मोर्जिम में हूं, पंजिम में स्थिति ठीक है.

नफ़ीसा अली का कहना है कि वो और उनकी बेटी का परिवार सिर्फ़ 10 दिनों के लिये गोवा आया था, पर लॉकडाउन की वजह से उन्हें यहां रुकना पड़ा. हालांकि, अभिनेत्री की परेशानी जानने के बाद गोवा अधिकारी उन तक पहुंचने में कामयाब रहे और उनकी परेशानी जानी. साथ ही उनके खाने-पीने के बारे में भी चर्चा की. इसके साथ ही पंजिम में उनकी दवाई भी ढूंढी जा रही है.

अभिनेत्री ने पुलिस से अनुरोध किया है कि जो लोग अन्य लोगों की मदद कर रहे हैं, पुलिस उन्हें न मारे.नफ़ीसा अली ने ये भी बताया कि बैंगलोर में उनकी भतीजी Covid-19 पॉज़िटिव पाई गई थी.

हम उम्मीद करते हैं कि जल्द ही नफ़ीसा अली की परेशानी ख़त्म हो जायेगी.

Entertainment के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.