‘पंकज त्रिपाठी’ त्रिपाठी अभिनय की दुनिया को वो नाम बन चुके हैं, जिसके अभिनय के सब कायल हैं. बीते कुछ सालों में उन्होंने फ़िल्मों और वेबसीरीज़ के लिये लोगों की बहुत तारीफ़ें बटोरी हैं. इसके साथ ही फ़ैंस उनकी सादगी और व्यक्तित्व को भी ख़ूब पसंद करते हैं. अगर उनके अब तक के फ़िल्मी करियर पर नज़र डालें, तो उन्होंने चुनिंदा और बेहतरीन रोल करके अपनी एक अलग पहचान बनाई हैं. अपने इस अंदाज़ को वो आगे भी जारी रखेंगे. 

outlookindia

अपने किरदारों को लेकर पंकज त्रिपाठी ने हाल में एक बात साफ़-साफ़ कह दी है. वो कहते हैं कि ‘मैं झूठी मर्दानगी को बढ़ावा देने वाले रोल नहीं करना चाहता. मैं उन सभी विचारों के सख्त़ ख़िलाफ़ हूं, जो कहते हैं कि मर्द को दर्द नहीं होता या फिर औरतों की तरह क्यों रो रहा है. मैं भले ही पर्दे पर निगेटिव किरदार करता हूं लेकिन मैं कभी ऐसा किरदार नहीं करूंगा जो चाइल्ड अब्यूज़ को दर्शाए. इसके लिए भले ही मुझे कितने ही पैसे क्यों न दिए जाएं.’ 

news18

इसके अलावा उनका ये भी कहना है कि ऐसा नहीं है कि वो स्क्रीन पर सिर्फ़ अच्छे किरदार करना चाहते हैं. कालीन भईया कहते हैं कि स्टोरी में कुछ किरदार बुरे भी हैं, पर उसके पीछे की मानसिकता को आंकना भी ज़रूरी है. कई बार इस तरह के रोल्स को व्यंग रूप में दिखाया जाता है. आगे उन्होंने कहा कि ‘मैं धीरे-धीरे वो बदलाव लाने की कोशिश कर रहा हूं, जो मुझे ख़ुद इस इंडस्ट्री में देखने हैं.’ 

इसके अलावा उनका कहना है कि हमारे समाज में मर्दानगी को लेकर बहुत सारे भ्रम फैले हुए हैं, जिन्हें तोड़ने की ज़रूरत है. पुरुष भी इंसान है और वो रो सकता है. पंकज त्रिपाठी कहते हैं कि फ़िल्मों से समाज पर अच्छा और बुरा दोनों ही प्रभाव पड़ता है. यही वजह है कि मैं बतौर एंटरटेनर कुछ ऐसा करना चाहता हूं कि लोगों तक अच्छा संदेश पहुंचे. 

koimoi

कालीन भईया अपनी एक्टिंग और बातों दोनों से ही दिल जीतना चाहते हैं. 

Entertainment के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.