Arvind Trivedi Death: टेलीविज़न के सबसे लोकप्रिय शो ‘रामायण’ (Ramayana) में ‘लंकेश’ यानि ‘रावण’ की भूमिका निभाने वाले अरविंद त्रिवेदी (Arvind Trivedi) अब हमारे बीच नहीं रहे. 82 साल की उम्र में दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया. टीवी और फ़िल्मों में उन्होंने पहले भी कई भूमिकाएं, लेकिन जो लोकप्रियता उन्हें ‘रावण’ के किरदार से मिली उसका कोई मुक़ाबला नहीं था. ये कहना ग़लत नहीं होगा कि अरविंद त्रिवेदी ने रामायण के मुख्य पात्र को सदा के लिये अमर कर दिया है.

HT

इत्तेफ़ाक देखिये जिन अरविंद्र त्रिवेदी को आज ‘लंकेश’ के किरदार के लिये याद किया जा रहा. वो कभी इस किरदार को करना ही नहीं चाहते थे. अरविंद त्रिवेदी जी ‘रामायण’ में ‘केवट’ की भूमिका का ऑडिशन देने आये थे, लेकिन क़िस्मत से उन्हें ‘रावण’ का रोल ऑफ़र किया गया, जिसके लिये उन्होंने न कह दिया था. इस बात का ख़ुलासा एक इंटरव्यू के दौरान ख़ुद उनकी पोती ने किया.  

tosshub

मुंबई मिरर की रिपोर्ट के अनुसार, जब रामानंद सागर ने अरविंद त्रिवेदी जी के सामने रावण की भूमिका का प्रस्ताव रखा, तब उन्होंने इसे करने से इंकार कर दिया. उस समय वो और अभिनेता परेश रावल एक नाटक में साथ काम कर रहे थे. उस दौरान परेश रावल ही वो शख़्स थे, जिन्होंने अरविंद जी को रावण का रोल करने के लिये मोटिवेट किया. 

परेश रावल ने उन्हें समझाते हुए कहा कि ज़िंदगी में ऐसा मौक़ा एक बार मिलता है, इसलिये इसे बिल्कुल गंवाना नहीं चाहिये. परेश रावल की बातों का अरविंद त्रिवेदी जी पर गहरा असर हुआ और उन्होंने रावण के रोल के लिये हां कर दी. इसके बाद रावण रूप में उन्होंने ख़ूब लोकप्रियता भी हासिल की. 

tellychakkar

शायद इसीलिये ज़िंदगी में कोई भी फ़ैसला सोच-समझ कर लेना चाहिये. अगर उस समय परेश रावल उन्हें इस रोल के लिये नहीं समझाते, तो शायद आज वो इतने फ़ेमस भी न होते. 

Entertainment के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop HIndi पर क्लिक करें.