90 के दशक के कुछ सीरियल्स ऐसे हैं जिन्हें हम कभी नहीं भूल सकते. इन्हीं में से एक महाभारत भी. याद है कैसे दूरदर्शन पर महाभारत देखने के लिये भीड़ जमा हो जाती थी. अगर महाभारत सीरियल याद है, तो आपको गदाधारी 'भीम' का किरदार भी याद होगा. भीम का किरदार प्रवीण कुमार सोबती ने निभाया था. प्रवीण कुमार सोबती ने अपने अभिनय से गदाधारी भीम के रोल को पर्दे पर सदा के लिये जीवंत कर दिया.

प्रवीण कुमार सोबती
Source: sinceindependence

ये भी पढ़ें: महाभारत का कंस उर्फ़ गोगा कपूर, वो एक्टर जिसे लोग असलियत में अत्याचारी कंस कहकर बुलाने लगे थे 

आज अगर हम आंखें बंद करके महाभारत के 'भीम' की कल्पना करते हैं, तो सबसे पहले प्रवीण कुमार की छवि ही घूमती है. हंसी हो या ग़ुस्सा, उन्होंने भीम के कैरेक्टर को ईमानदारी से बख़ूबी निभाया. प्रवीण कुमार एक बेहतरीन कलाकार हैं और अपने अभिनय का सबूत भी दे चुके हैं. वो भी तब जब एक्टिंग से उनका दूर-दूर तक कोई नाता नहीं था.  

महाभारत
Source: thebetterindia

अंतरराष्ट्रीय खेलों में देश का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं भीम 

आपको जानकर हैरानी होगी कि बी.आर. चोपड़ा की महाभारत में भीम का रोल निभाने वाले प्रवीण डिस्कस थ्रोअर और हैमर थे. इसके अलावा वो राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय खेल में देश की तरफ़ से प्रतिनिधित्व भी कर चुके हैं. रुकिये बात यहीं ख़त्म नहीं होती. छोटे पर्दे के गदाधारी भीम एशियाई और कॉमनवेल्थ गेम्स में जाकर इंडिया के लिये पदक भी ला चुके हैं. साथ ही उन्हें दो बार ओलिंपिक में देश का प्रतिनिधित्व करने का मौक़ा भी दिया जा चुका है.

अंतरराष्ट्रीय खेल
Source: thebetterindia

कैसे एक खिलाड़ी बन गया अभिनेता?

1960-70s के दौरान प्रवीण भारतीय एथलेटिक्स की लोकप्रिय हस्ती थे. उनकी बॉडी और पर्सनैल्टी को देखते हुए उन्हें हैमर और डिस्कस थ्रोअर बनने का मौक़ा मिला. इसके बाद 1966-1970 के दौरान उन्हें हॉन्ग कॉन्ग में हुए एशियाई खेलों में हिस्सा लेने का अवसर मिला. उन्होंने अपनी कला का जादू दिखाया और देश के लिये स्वर्ण पदक भी जीत लिया.  

प्रवीण भारतीय एथलेटिक्स
Source: jagranimages

प्रवीण किंग्स्टन में कॉमनवेल्थ गेम्स (1966) और तेहरान में एशियाई खेलों (1974) में रजत मेडल विजेता भी बने. इसके अलावा वो दो बार ओलंपिक में भी जा चुके थे. प्रवीण का करियर एकदम परफ़ेक्ट चल रहा था, लेकिन फिर अचानक उनकी पीठ में दर्द की शिकायत रहने लगी.  

प्रणीण कॉमनवेल्थ गेम्स
Source: twimg

खेल की दुनिया में एक सफ़ल पारी खेलने के बाद उन्होंने 1980 में अभिनय की दुनिया में क़दम रखा. ‘फ़र्ज़’ फ़िल्म से उन्होंने अभिनय की शुरुआत की. इसके बाद उन्हें कई फ़िल्मों में काम करने का मौक़ा मिला, लेकिन पहचान उन्हें महाभारत के 'भीम' के किरदार से मिली. भीम के रोल को पर्दे पर जीवंत करने के लिए प्रवीण ने बहुत मेहनत की और सफ़ल भी रहे.