बॉलीवुड को कोयला, करन-अर्जुन, कहो न प्यार है...! और कोई मिल गया जैसी फ़िल्में देने वाले डायरेक्टर राकेश रोशन ने कैंसर को हरा दिया है. इनको गले में Squamous Cell Carcinoma की शिकायत थी. जिसके बाद डॉक्टर ने राकेश रोशन से कहा कि हो सकता है उनकी जीभ काटनी पड़ जाए.

Rakesh Roshan

कैंसर के बारे में बताते हुए राकेश रोशन ने बताया,

इसकी शुरुआत एक छाले से हुई थी. मेरे फ़ैमिली डॉक्टर ने मुझे कई दवाइयां दीं लेकिन, ये नहीं गया. ये छोटा सा छाला था, जिसमें न तो दर्द हो रहा था और न ही खुजली. इसलिए मैंने इसको ज़्यादा गंभीर रूप से नहीं लिया. एक दिन मैं अपने दोस्त से मिलने हिंदुजा हॉस्पिटल गया, तो मैंने वहां पर नाक, कान और गले के सर्जन को देखा, जब मैंने उनको इस बारे में बताया तो उन्होंने मुझे बायोप्सी की सलाह दी थी. मैं आपको बता दूं कि मुझे इस बात का अंदेशा शुरू से था कि मुझे कैंसर है.
Rakesh roshan
Source: masala

उन्होंने आगे बताया,

15 दिसंबर 2018 को मैं रितिक के घर था तब फ़ोन आया कि मेरी बायोप्सी रिपोर्ट पॉज़ीटिव है और मेरी जीभ काटनी पड़ सकती है. ये सुनते ही मेरे होश उड़ गए मैंने उनसे कहा कि, ऐसा नहीं कर सकता मैं. इसके बाद मैंने हर अच्छे डॉक्टर से बात की तभी मैं जतिन शाह से मिला, जो अमेरिका के कैंसर सेंटर के हेड हैं.
Director
Source: indiatoday

कैंसर से डटकर लड़ने वाले राकेश रोशन ने आगे बताया,

जब मुझे पूरी तरह विश्वास हो गया कि मुझे कैंसर है, मैंने ख़ुद को संभाला और ख़ुद से कहा कि जो होगा उसका डटकर सामना करूंगा. फिर मैंने 31 दिसंबर को दोस्तों के साथ न्यूईयर पार्टी इंजॉय की. मेरे कैंसर का किसी को भी पता ही नहीं चला. 2 जनवरी वो दिन थी, जब डॉक्टर ने मुझे सर्जरी की सलाह दी. तीन हफ़्ते के बाद कोकिलाबेन अस्पताल में मेरी कीमोथेरेपी शुरू हुई, जो 4 से 5 घंटे तक चलती थी.
hrithik roshan
Source: indiatoday
इसके बाद एचएन रिलायंस फ़ाउंडेशन अस्पताल में मेरी सर्जरी की गई थी और उन्होंने मुझे 100 Cisplatin दिए जबकि आमतौर पर 40 दिए जाते हैं. यहां तक कि मेरे विकिरण 60 से बढ़कर 67 हो गए. डॉक्टरों ने मुझे बताया कि मेरे पास बहुत इच्छा शक्ति है. मेरे पास मेरी कठिनाइयों का हिस्सा है, वास्तव में, मेरे परिवार में हम सभी स्वास्थ्य मुद्दों से गुज़र चुके हैं.
rakesh roshan family
Source: hindustantimes

मेरी पत्नी बीच में अस्वस्थ थीं. मेरी बेटी सुनैना को कैंसर था, ऋतिक की ब्रेन सर्जरी हो चुकी है. मगर मैं इन सब बातों से कभी टूटा नहीं. मैंने एक सनकी या निराशावादी व्यक्ति नहीं हूं. मैं भी भाग्यशाली रहा हूं. कहो ना प्यार है अभी रिलीज हुई थी. मैंने लापरवाही से ईसीजी कर लिया और समय के साथ मैंने अपनी धमनियों में रुकावट महसूस की. भगवान मुझ पर मेहरबान रहे हैं। हां, मेरे पास मेरी कठिनाइयों का हिस्सा है लेकिन मैं सब कुछ से बाहर आ गया हूं. मैंने कभी हार नहीं मानी.

कैंसर को मुंहतोड़ जवाब देकर वापस लौटे राकेश रोशन ने अपने काम के बारे में भी बताया,

मैंने कृष 4 पर काम शुरू कर दिया है. मैंने इसकी स्क्रिप्ट में कुछ बदलाव किए हैं. ये मेरी अगली फ़िल्म है.
rakesh roshan krrish 4
Source: laughingcolours

इस बात को लेकर रितिक ने भी कहा था,

मेरे पिता अब बिलकुल ठीक हैं और वो उनकी अगली फ़िल्म पर काम शुरू कर चुके हैं. हमने इस फ़िल्म इसलिए रोक दिया था क्योंकि ये हमारे दिल के बहुत क़रीब है अब वो ठीक हो गए हैं, तो अब हमने इस पर काम शुरू कर दिया है.
rakesh roshan
Source: spotboye

इन सबके अलावा राकेश रोशन ने अपनी फ़िटनेस पर भी बात की,

जीभ का कैंसर सबसे ख़राब होता है. इसकी वजह से किसी चीज़ का स्वाद नहीं मिलता है. मैंने कितने दिनों तक पानी, चाय और कॉफ़ी कुछ भी ठीक से नहीं पिया था. इसकी वजह से मेरा 10 किलो वज़न घट गया था. अब मैं ठीक हूं और रोज़ डेढ़ घंटे जिम करता हूं, मेरा वज़न तीन किलो बढ़ गया है और मैं फ़िट भी हूं.

Entertainment से जुड़े आर्टिकल ScoopwhoopHindi पर पढ़ें.