किंग ख़ान ने बॉलीवुड को कई जबरदस्त फ़िल्में दी हैं और कई दमदार कैरेक्टर के ज़रिए दर्शकों का दिल जीता है. 'स्वदेश' भी शाहरुख ख़ान की सबसे चुनिंदा ख़ास फ़िल्मों में गिनी जाती है. 2004 में रिलीज़ हुई ये फ़िल्म हिन्दी सिनेमा जगत में मील का पत्थर साबित हुई. इस फ़िल्म को आशुतोष गोवारिकर ने डायरेक्ट किया था. वहीं, शाहरुख ख़ान और गायत्री जोशी मुख्य किरदार में थे. वैसे आपको बता दें ये फ़िल्म एक सीरियल से प्रभावित होकर बनाई गई गई थी. आइये, इस लेख में जानिए कौन-सा था वो सीरियल और साथ में जानिए फ़िल्म से जुड़ी कुछ और रोचक जानकारी.

ये फ़िल्म नहीं करना चाहते थे शाहरुख ख़ान  

Swadesh
Source: imdb

जानकर हैरानी होगी कि शाहरुख ख़ान ये फ़िल्म नहीं करना चाहते थे. उनको लगता था कि ये फ़िल्म नहीं चल पाएगी. इस विषय पर उन्होंने फ़िल्म के डायरेक्टर आशुतोष गोवारिकर से बात भी की थी. लेकिन, आशुतोष ने उनके साथ ये फ़िल्म इसलिए की क्योंकि ये उनके पिता का एक सपना था. 

नहीं देखी पूरी फ़िल्म 

shahraukh khan
Source: indianexpress

शाहरुख ख़ान स्वदेश फ़िल्म में मोहन भागर्व के किरदार में थे जो कि एक एनआरआई साइंटिस्ट थे. इस फ़िल्म में उनकी घर वापसी को दिखाया गया है. कहते हैं इस फ़िल्म से शाहरुख ख़ान इतने इमोशनली जुड़ गए थे कि उन्होंने इस फ़िल्म की एंडिंग अभी तक नहीं देखी है. वहीं, इस फ़िल्म के कुछ सीन नासा रिसर्च सेंटर में अंदर फ़िल्माए गए थे. 

बॉक्स ऑफ़िस पर कमाल नहीं कर पाई

swades
Source: indiatvnews
swades
Source: dichotomy-of-irony.blogspot

स्वदेश फ़िल्म की कहानी बॉलीवुड की मसाला मूवी से काफ़ी अलग थी. शायद यही वजह थी कि ये बॉक्स ऑफ़िस पर उतना कमाल नहीं कर पाई. हालांकि, ये फ़िल्म काफ़ी हद तक दर्शकों के दिल में जगह बनाने में कामयाब रही. इस फ़िल्म के गाने “यूं ही चला चल राही” व “ये तारा वो तारा” आज भी लोग गुनगुनाते नज़र आ जाएंगे.   

सीरियल से प्रेरित होकर बनी थी फ़िल्म 

आपको जानकर हैरानी होगी कि शाहरुख ख़ान की स्वदेश फ़िल्म 90s के एक सीरियल से प्रेरित होकर बनाई गई थी. दरअसल, ज़ी टीवी पर “लव स्टोरिज़” नाम से एक शो आता था, जिसमें कई कहानियां दिखाई जाती थीं. उसमें एक कहानी थी ‘वापसी’. इस स्टोरी में आशुतोष गोवारिकर ने मोहन का कैरेक्टर निभाया था, जो कावेरी अम्मा (Kishori Ballal) से मिलने अपने देश वापस लौटता है. वहीं, मोहन को गीता नाम की लड़की से प्रेम हो जाता है. 

बता दें स्वदेश फ़िल्म Aravinda Pillalamarri और Ravi Kuchimanchi के जीवन पर आधारित है, जिन्होंने अपने देश लौटकर Pedal Power Generator का निर्माण किया था.