बॉलीवुड के मशहूर अभिनेताओं की फेहरिस्त में शामिल गंभीर किरदारों के बाज़ीगर ओम पुरी अब नहीं रहे. 66 साल के ओम पुरी का दिल का दौड़ा पड़ने से निधन हो गया. देश के बेहतरीन एक्टर्स की श्रेणी में शुमार ओम पुरी अब अपनी अदाकारी का जादू नहीं बिखेर सकेंगे. बताया जा रहा है कि वह बीते कई दिनों से बीमार थे.

ओमपुरी उन चंद अभिनेताओं में से थे, जिन्होंने समानांतर सिनेमा से लेकर कमर्शियल सिनेमा तक में अपनी कामयाबी से न सिर्फ़ अपनी पहचान बनाई, बल्कि दर्शकों के बीच समानांतर सिनेमा की स्वीकार्यता को भी बढ़ावा दिया. उनकी मौत की ख़बर सुनकर बॉलीवुड जगत से लेकर आम फैंस तक सकते में हैं.

इनके निधन पर कई नामचीन हस्तियों ने शोक जताया है और इसे भारतीय सिनेमा की बड़ी क्षति करार दिया है. ओमपुरी का पूरा नाम राजेश पुरी है. इनका जन्म 18 अक्टूबर 1950 को हरियाणा के अंबाला में हुआ था.

उनकी प्रारंभिक शिक्षा अपने ननिहाल पंजाब के पटियाला में हुई थी. ओम पुरी ने फ़िल्म एंड टेलीविजन इंस्टिट्यूट पुणे से एक्टिंग की पढ़ाई की थी. ओम पुरी बॉलीवुड के साथ-साथ हॉलीवुड के भी कई फ़िल्मों में भी काम कर चुके हैं.

ओम पुरी ने अपने दमदार अभिनय से बॉलीवुड को कई हिट फ़िल्में दीं. उन्होंने कॉमेडी से लेकर गंभीर किरदारों को भी खूबसूरती से निभाया. उनकी ‘आक्रोश’, ‘आरोहन’, ‘माचिस की तीली’, ‘अर्धसत्य’, ‘मिर्च-मसाला’ समेत कई फ़िल्मों ने दर्शकों के दिल को छुआ.

सबसे खास बात ये है कि ओमपुरी एक बेहतर आवाज़ के धनी थे. कई फ़िल्मों में तो सिर्फ़ दमदार आवाज़ के कारण ही उन्हें लिया जाता था. अपनी आवाज़ के कारण ही वे आज इतने बड़े मुकाम पर पहुंच पाये थे. कई डॉक्यूमेंट्री और फ़िल्मों में भी उन्होंने अपनी आवाज़ का जादू बिखेरा.

News Source: indianexpress

Feature image source: news18