सुपरहिट फ़िल्म ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ को रिलीज़ हुए 26 साल हो चुके हैं. मगर आज भी दर्शक इस फ़िल्म को टीवी या ऑनलाइन देखने से पीछे नहीं हटते. फ़िल्म की स्टोरी से लेकर इसके किरदार तक से 90 के दशक के लोगों के जज़्बात जुड़े हुए हैं.

फिर चाहे बात राज और उसके पिता के बीच उसके दोस्ताना रिश्ते की हो या फिर सिमरन और उसके ग़ुस्सैल बाबूजी(बलदेव) के रिश्ते की. दोनों को दर्शकों ने भरपूर प्यार दिया. मगर इस फ़िल्म में सिमरन के पिता हमेशा ग़ुस्से वाले मूड में क्यों रहते थे ये किसी को नहीं पता. इसका जवाब हम आपके लिए लेकर आए हैं.

ये भी पढ़ें: क़िस्सा: जब विजय आनंद ने DDLJ को हॉलीवुड फ़िल्म की कॉपी बताकर अवॉर्ड देने से इंकार कर दिया था 

Dilwale Dulhania Le Jayenge
Source: indianexpress

बलदेव हमेशा ग़ुस्से में क्यों रहता है इसका जवाब DDLJ के एक डिलीटेड सीन में मिला है. बलदेव जो पंजाब से आकर लंदन में एक नाख़ुश ज़िंदगी जी रहा होता है, क्योंकि उसके साथ यहां बहुत बड़ा धोखा होता है. 

ये भी पढ़ें: DDLJ में काजोल की फ़्रेंड शीना याद है, जानना चाहते हो आजकल वो कहां हैं और क्या कर रही हैं?

ddlj
Source: indianexpress

दरअसल, बलदेव अपने परिवार के साथ लंदन अपने दोस्त के कहने पर आता है, जिसने उसे यहां एक अच्छी नौकरी दिलाने का वादा किया था. उसका परिवार उसे कर्ज़ लेकर लंदन भेजता है लेकिन यहां पहुंचने पर उसे पता चलता है कि नौकरी तो है ही नहीं और उसका दोस्त नरेंदर उसे धोखा देकर अफ़्रीका भाग गया है.   

ddlj 26 years
Source: tribune

इसके बाद उसे लंदन में अपने परिवार के साथ दर-बदर भटकना पड़ता है. इसलिए उसका स्वभाव चिड़चिड़ा हो जाता है. वो अपने परिवार के ख़ातिर ही वहां पर मन मारकर रह रहा होता है, जबकि उसका दिल पंजाब में आने को तड़पता रहता है. DDLJ के इस डिलीटेड सीन में आप ये बात देख सकते हैं.

भले ही बलदेव थोड़ा चिड़चिड़े स्वभाव का रहा हो बावजूद इसके उनके इस किरदार को भी लोगों ने ख़ूब पसंद किया था. आपको इस फ़िल्म में से कौन-सा किरदार बेस्ट लगा कमेंट बॉक्स में बताना.