Why Most Cafe Tables Are Round: आप कभी न कभी कॉफ़ी शॉप तो ज़रूर गए होंगे. लोग मस्त बैठकर वहां कॉफ़ी का मज़ा लेते हैं. कुछ दोस्तों के  साथ तो कुछ अकेले. कुछ तो लैपटॉप लेकर वहीं काम भी निपटाए रहते हैं. ऐसा इसलिए भी क्योंकि कॉफ़ी शॉप में आपको बार-बार वेटर्स परेशान नहीं करते. एक बार आपने ऑर्डर दे दिया तो वो ग़ायब. फिर बमुश्किल ही आपसे दोबारा ऑर्डर पूछने आएंगे. इसलिए लोग अक्सर कॉफ़ी शॉप में घंटों मौज से बैठे रहते हैं.

postoast

लेकिन कभी आपने गौर किया है कि ज़्यादातर कैफ़े में टेबल गोल ही होती हैं? अगर किया है तो इसके पीछे की वजह जानने की कोशिश कभी की है? अगर नहीं तो आज हम आपको बताएंगे. क्योंकि, कॉफ़ी शॉप में गोल मेज़ यूं ही नहीं होती. बल्क़ि, जानबूझकर और सोच-समझकर इनका इस्तेमाल होता है.

Why Most Cafe Tables Are Round: आख़िर क्यों होती है ज़्यादातर कॉफ़ी शॉप में गोल मेज़?

कॉफ़ी शॉप में गोल मेज़ के पीछे साइकोलॉजिकल वजह है. माना जाता है कि गोल मेज़ पर बैठने से लोग अकेलापन फ़ील नहीं करते. फ़ाइनेंशियल जर्नलिस्ट Karen Blumenthal ने अपनी किताब Grande Expectations में लिखा है कि ‘चौकोर किनारों वाली मेज़ की तुलना में गोल मेज़ ज़्यादा वेलकमिंग है. गोल मेज़ पर बैठकर लोग कम अकेला फ़ील करते हैं.’

इसका मतलब है कि अगर आप कॉफ़ी शॉप में अकेले बैठकर कोई काम कर रहे हैं जैसे फ़ोन कॉल्स का जवाब या फिर लैपटॉप वगैरह पर काम तो आप अकेलापन फ़ील नहीं करेंगे. (Why Most Cafe Tables Are Round)

postoast

अमेरिकी सामाजिक मनोवैज्ञानिक Frank T. McAndrew ने भी इस बारे में लिखा है. उन्होंने बताया है कि कैसे एक रेस्टोरेंट का वातावरण हमारे व्यवहार को प्रभावित करता है.

उन्होंने कहा, ‘रेस्टोरेंट्स में आलीशान सजावट, धीमी रौशनी और कंफ़र्टेबल फ़र्नीचर लोगों को ज़्यादा ऑर्डर करने के लिए प्रोत्साहित करता है.’

ऐसे में गोल टेबल कॉफ़ी के शौक़ीनों का एक्सपीरियंस बेहतर बनाता है. वो कॉफ़ी शॉप में बैठकर दोस्तों साथ गप लड़ाते हैं. बातों ही बातों में वो दोबारा ड्रिंक ऑर्डर कर देते हैं और ऐसे ही बार-बार कॉफ़ी पीते जाते हैं.

गोल टेबल आरामादायक नहीं है तो भी बिज़नेस के लिए फ़ायदेमंद है

अब हो सकता है कुछ लोगों के लिए गोल मेज़ आरामदायक न हो. वैसे तो गपबाज़ी करने वालों के लिए तो कंफ़र्टेबल होती है, लेकिन काम निपटाने वालों के लिए नहीं. मसलन, जिन्हें लैपटॉप रखकर काम करना हो. क्योंकि, वर्किंग के लिए ये टेबल अच्छी नहीं है.

मान लीजिए आप काम करते-करते थक जाएं और हाथ टेक कर कोहनियों को आराम देना चाहें तो दिक्कत होगी. इसके लिए पहले आपको लैपटॉप आगे खिसकाना होगा. इसमें झंझट लगता है. क्योंकि, चौकोर मेज में आप हाथ आराम से टेक सकते हैं, वो भी बिना लैपटॉप को खिसकाए.

अब ऐसे में आप कोशिश करेंगे कि जल्दी से जल्दी काम निपटा लें और कॉफ़ी ख़त्म कर वहां से निकल जाएं. इससे कॉफ़ी शॉप वालों को फ़ायदा होगा. भई दूसरे कस्टमर को खाली सीट जो मिल जाएगी.

ये भी पढ़ें: जानिए कोल्ड ड्रिंक और सोडा बोतल का बेस पॉइंटेड क्यों होता है और क्या है इसका वैज्ञानिक कारण