Health Benefits Of Desi Ghee: भारतीय घरों में घी का इस्तेमाल जमकर किया जाता है. दाल में जबतक घी न पड़ा हो तब तक मज़ा ही नहीं आता है और घी चुपड़ी रोटी के तो क्या कहनें! कुल मिलाकर हम भारतीयों को घी खाने के बहाने चाहिए. मगर कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो मोटे होने के डर से घी खान से बचते हैं, जबकि घी सिर्फ़ स्वाद को नहीं बढ़ाता है, बल्कि स्वस्थ रखने में भी मदद करता है. आयुर्वेद में घी (Cow Ghee Benefits In Ayurveda) को दवा माना गया है, जिसके सेवन से बड़े से बड़े रोग ख़त्म किए जा सकते हैं.

Desi Ghee
Source: shopify

पोषक तत्वों से भरपूर है घी (Rich In Minerals)
घी में ओमेगा-3, ओमेगा-9 फ़ैटी एसिड और विटामिन A, K, E जैसे कई सारे पोषक तत्व होते हैं, जो इम्यूनिटी को मज़बूत कर शरीर को कई बड़ी बीमारियों से बचाते हैं. इसलिए गी हमारे शरीर के लिए बहुत फ़ायदेमंद (Health Benefits Of Desi Ghee) है. 

ये भी पढ़ें: घी खाने में नाक-मुंह बनाने वाले उसके ये 5 स्किन और हेयर बेनिफ़िट्स जानकर इज़्ज़त करने लगोगे

Health Benefits Of Desi Ghee

बहुत से लोगों को लगता है घी खाने से मोटापा बढ़ता है या पेट निकल आता है, तो इन सब कयासों पर पूर्णविराम लगाने के लिए घी के फ़ायदे जानने बहुत ज़रूरी हैं.

Health Benefits Of Desi Ghee
Source: freepik

ये रहे घी खाने के फ़ायदे (Health Benefits Of Desi Ghee)

1. वेट लॉस (Weight Loss)

घी का सेवन सीमित मात्रा में करने से वज़न नहीं बढ़ता है, क्योंकि घी में हेल्‍दी फ़ैट होता है, जो ख़राब फ़ैट को दूर कर वज़न कम करने में मदद करता है.

Weight Loss
Source: healthline

2. इम्यूनिटी (Immunity)

कोरोना आने के बाद से इम्यून सिस्टम का स्ट्रॉन्ग होना बहुत ज़रूरी है और देसी घी इम्यूनिटी को बढ़ाने में सबसे बेहतर माना जाता है इसलिए एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर घी के एक चम्मच का सेवन रोज़ ज़रूर करें.

Immunity
Source: netdna

3. कोलेस्‍ट्रोल (Cholesterol)

घी में कुछ ऐसे तत्व होते हैं, जो शरीर से बैड कोलेस्ट्रोल (Cholesterol) को कंट्रोल करके गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ावा देते हैं.
ये भी पढ़ें: Blue Tea Benefits In Hindi: अपराजिता फूल से बनी ब्लू टी पीने से मिलेंगे ये 10 ज़बरदस्त फ़ायदे

Cholesterol
Source: tatahealth

4. कब्ज़ (Constipation)

कब्ज़ हो जाने पर घी का सेवन करने से काफ़ी आराम मिलता है. रोज़ाना घी का सेवन करने से पेट संबंधी समस्याएं दूर होती हैं.

Constipation
Source: zeenews

5. त्वचा (Skin)

घी में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो त्वचा को हेल्दी रखते हैं, जिससे त्वचा ग्लो करती है.

Skin
Source: zivame

6. हड्डियों (Bones)

घी में विटामिन K 2 होता है, जो शरीर में कैल्शियम के सोर्स का काम करता है. इसलिए राज़ाना घी का सेवन करने से हड्डियां मज़बूत होती हैं.

Bones
Source: yourhealth

7. कमज़ोरी (Weakness)

रोज़ाना एक गिलास दूध के साथ एक चम्मच घी का सेवन करने से शरीर की कमज़ोरी दूर होती है और थकान महसूस नहीं होती है.

Weakness
Source: acts29

8. माइग्रेन और सिर दर्द (Migraine And Headache)

माइग्रेन होने पर गाय के घी की 2 या 3 बूंदें नाक में डालने से माइग्रेन के दर्द में राहत मिलती है. इससे एकाग्रता भी बढ़ती है.

Migraine And Headache
Source: brisbanebulkbillingdocto

9. आंखें (Eyes)

रोज़ाना एक चम्मच घी में पिसी हुई काली मिर्च और शक्कर मिलाकर खाने से आंखों की रौशनी बढ़ती है. इसके अलावा, डार्क सर्कल होने पर, सूजन या जलन होने पर घी से आंखों की मालिश करने से काफ़ी राहत मिलती है.

Eyes
Source: rocketcdn

नींद (Sleep)

रात को सोने से पहले एक चम्मच घी को एक गिलास मीठे दूध में मिलाकर पीने से अच्छी नींद आती है.

Sleep
Source: marialma

11. कैंसर

घी में मौजूद Conjugated Linoleic Fatty Acid (एक तरह का Antioxidant) द्वारा कैंसर से बचा जा सकता है. 1991 में Roswell Park Cancer Institute ने शोध में पाया कि, ब्रेस्ट कैंसर रोकने में CLA दूसरे Fatty Acid से ज़्यादा कारगर है.

Cancer
Source: twimg

12. दर्द और सूजन

अगर कोई व्यक्ति गठिया के दर्द से ग्रसित है, तो घी के सेवन से एक हद तक आराम मिल सकता है. तेहरान यूनिवर्सिटी में 78 मरीज़ों पर किए गए एक क्लिनिकल ट्रायल में पाया गया कि घी से जोड़ों की सूजन कम होती है.

Benefits of Ghee
Source: gannett-cdn

13. दिल

अगर आप नियमित रूप से देसी धी का सेवन करेंगे तो दिल की बीमारियां होने के कम आसार होते हैं.

Heart
Source: amazonaws

14. Positivity

आयुर्वेद के अनुसार, घी सात्विक भोजन है. सात्विक खाने से व्यक्ति के अंदर Positivity आती है.

Positivity
Source: healthyflat

15. Flexibility

ऋषि-मुनि अपना खाना घी में ही बनाते थे, ऐसा सुना होगा. घी खाने से शरीर का लचीलापन बढ़ता है. स्फ़ूर्ति आती है. 

Flexibility
Source: pinimg

देसी घी बनाया कैसे जाता है?

गांव में घी बनाने की एक लंबी प्रकिया अपनाई जाती है. इसके लिए पहले दूध को गर्म किया जाता है, जब उसका रंग हल्का गेंहुआ हो जाता है तब उसमें दही मिलाकर रात भर जमने के लिए एक मिट्टी के बर्तन में रख दिया जाता है. फिर सुबह उस दही को मथानी की मदद से बिलोकर उससे मक्खन तैयार करते हैं. ये वही मक्खन है जिसे भगवान कृष्ण चुरा कर खाते थे. इसीलिए तो उन्हें माखनचोर कहा जाता है. इस मक्खन को इकठ्ठा कर कड़ाही में तेज़ आंच पर पकाया जाता है. इस तरह तैयार होता है स्वादिष्ट और पौष्टिक घी. ये घी बहुत ही टेस्टी और हेल्दी होता है.

Ghee
Source: scoopwhoop

Processed घी कैसे बनता है?

Processed घी को बड़े स्तर पर मशीनों के द्वारा बनाया जाता है. कुछ लोग इसे दूध से तो कुछ दूध की मलाई से बनाते हैं. भले ही इनका प्रोसेस बहुत ही तेज़ होता है और एक ही दिन में सैंकड़ों लीटर घी तैयार हो जाता है, लेकिन देसी घी जैसा स्वाद इनमें कतई नहीं आता. न ही इसे पचा पाना आसान होता है.

Processed Ghee
Source: aashiyanafarms

घी कैसे बनता है और इसेक फ़ायदे (Health Benefits Of Desi Ghee) के बारे में जान लिया है तो अब आपको तय करना है कि कब से और कैसे घी का सेवन करना शुरू कर रहे हैं?