Health Benefits Of Matcha Tea: हम भारतीयों की सुबह ही चाय से होती है. जब तक कड़क पत्ती की चाय न मिल जाए तो दिन की शुरुआत होती ही नहीं है, लेकिन डाइटिंग-वाइटिंग और फ़िट-शिट रहने के चक्कर में चाय के साथ-साथ अब कई घरों के किचन में ग्रीन टी ने भी अपनी एक ख़ास जगह बना ली है क्योंकि जो लोग फ़िटनेस पर ज़्यादा ध्यान देते हैं उनकी सुबह तो ग्रीन टी से ही होती है. वैसे ग्रीन टी के तो फ़ायदे पता ही हैं, इसलिए उसे नहीं बताएंगे. आज बात करेंगे जापान की पारंपरिक चाय माचा टी की, जो ग्रीन टी की तरह ही शरीर के लिए बहुत फ़ायदेमंद (Health Benefits Of Matcha Tea) होती है. इसलिए इसे सुपरफ़ूड भी माना जाता है.

Matcha Tea
Source: healthline

ये भी पढ़ें: Health Benefits Of Kulthi Dal: कुल्थी दाल क्या है, इसके फ़ायदे और नुकसान जानिये सब कुछ

कैसे बनती है माचा टी? (How To Make Matcha Tea?)

माचा टी हो या ग्रीन टी दोनों ही एक ही पौधे (कैमेलिया साइनेंसिस) से बनाई जाती हैं. बस दोनों को बनाने का तरीक़ा अलग है. ग्रीन टी बनाने के लिए पहले पत्तियों को सुखाया जाता है और फिर से रिफ़ाइन करके तैयार की जाती है. तो वहीं, माचा टी को बनाने से पहले पत्तियों को तनों से अलग करके उबालते हैं फिर इसे सुखाते हैं. सूखने पर इसे एकदम महीन पीस लेते हैं, जो पाउडर तैयार होता है वो होती है माचा टी. माचा टी को बनाने के बाद छानने की ज़रूरत नहीं होती है. 

Matcha Tea
Source: medicalnewstoday

Health Benefits Of Matcha Tea

माचा टी के फ़ायदे (Health Benefits Of Matcha Tea)

1. तनाव दूर करे 

माचा टी में होने वाले एंटीस्ट्रेस तत्व थियानिन और आर्गिनिन तनाव को दूर करते हैं. इसलिए तनाव होने पर माचा टी पीने से राहत मिलेगी.

Prevent Stress
Source: therecoveryvillage

2. एनर्जेटिक रखे

भागदौड़ भरी ज़िंदगी में थकान होना लाज़िमी है. थकान होने पर शरीर की सारी ऊर्जा ख़त्म हो जाती है. ऐसे में अगर माचा टी का सेवन किया जाए तो शरीर को एनर्जेचिक रखने में मदद मिलेगी क्योंकि इसमें पॉलीफ़िनॉल्स तत्व होता है, जो शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है. इसे एक दिन में 3 से चार कप पी सकते हैं.

Keep energetic
Source: madhyamam

3. वज़न घटाने में सहायक

माचा टी का सेवन अगर नियमित रूप से तीन महीने तक किया जाए तो बढ़ते वज़न को घटाने में मदद मिल सकती है. 

weight loss
Source: patientpop

4. डाइजेशन ठीक करे

माचा टी के पौधे (कैमेलिया साइनेंसिस) में कैटेचिन नाम का एक ख़ास तत्व होता है, जो शरीर की कमियों को पूरा करने में सहायक होता है. शरीर की कई समस्याओं को दूर कर डााइजेशन सिस्टम को बेहतर बनाता है.

digestion system
Source: everydayhealth

5. कोलेस्ट्रोल को कंट्रोल करे

माचा टी का सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल लेवल कंट्रोल में रहता है, जिससे हार्ट हेल्दी रहता है और हार्ट अटैक का ख़तरा भी कम होता है. इसके अलावा, माचा टी में पॉलिफ़िनॉल नामक एंटी-ऑक्सीडेंट होते हैं, जो बॉडी को फ़्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से बचाती है.

Control Colestrol
Source: rimage

6. ब्लड प्रेशर कंट्रोल करे

माचा टी में मौजूद कैटेचिन नामक एंटीऑक्सीडेंट ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखती है और जिससे आपको ब्लड प्रेशर की दवाइयों से छुटकारा मिल सकता है.

High in antioxidants
Source: medium

7. इम्यून सिस्टम मजबूत करती

माचा टी में मौजूद फ़ाइबर, क्लोरोफ़िल, सैलेनियम, ज़िंक, मैग्नीशि‍यम, क्रोमियम और विटामिन सी जैसे पोषक तत्व इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाते हैं और शरीर को बीमारियों से दूर रखते हैं.

ये भी पढ़ें: Health Benefits Of Dates: सर्दियों में रोज़ खजूर खाने से मिलेंगे ये 9 ज़बरदस्त फ़ायदे

माचा टी के नुकसान (Side Effects Of Matcha Tea)

1. डायबिटीज़ के मरीज़ डायबिटीज़ को कंट्रोल में रखने के लिए माचा टी पीते हैं, लेकिन उसे इस बात का ध्यान रखना ज़रूरी है कि कहीं वो इसका सेवन ज़्यादा मात्रा में तो नहीं कर रहे हैं.

control diabetes
Source: thequint

2. इसका सेवन अधिक मात्रा में करने से पित्त और लिवर की समस्या खड़ी होने का ख़तरा रहता है.

Matcha Tea
Source: wp

3. गर्भवती महिलाओं को माचा टी का सेवन एक दिन में दो कप से ज़्यादा नहीं करना चाहिए. इसके अलावा, अपने डॉक्टर से सलाह लेकर ही सेवन करें.

pregnant
Source: womensmentalhealth

4. कैफ़ीन का ज़्यादा सेवन शरीर के लिए हानिकार क होता है. इसलिए माचा टी का सेवन ज़्यादा करने से दिल संबंधी समस्या बढ़ सकती है.

Keep Heart Healthy
Source: bestcare

5. अगर नियमित रूप से किसी दवा के सेवन करते हैं तो माचा टी को पीने से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह ज़रूर लें नहीं तो यूरिन की समस्या होने का ख़तरा रहता है.

urine problem
Source: utkarshhomoeopathy

माचा टी हेल्दी तो है लेकिन किसी भी चीज़ का ज़्यादा सेवन हानिकारक होता है. इसलिए लिमिट में ही सेवन करें