चीन का इतिहास भी कई ख़ूबसूरत और आकर्षक इमारतों से भरा पड़ा है. चीनी राजवंशों के समय बनाए गए कई महलों, प्रवेश द्वार व अन्य इमारतों ने चीनी इतिहास को ज़िंदा रखा है. इन इमारतों में आप प्राचीन चीनी वास्तुकला की झलक साफ़-साफ़ देख सकते हैं. इसी क्रम में हम आपको बताते हैं चीन की शाही पहचान ऐतिहासिक समय पैलेस के बारे में जिसे कभी अंग्रेज़ों ने तबाह कर दिया था पर इसका अस्तित्व आज भी ज़िंदा रखा गया है.  

1. चीन की Qing dynasty के तहत ये जगह इंपीरियाल गार्डन थी, जिसमें ख़ूबसरत इमारतें, गार्डन और झील मौजूद थी. आज भी झील और गार्डन और इमारतों को देखा जा सकता है.  

summer palace china
Source: grayline

2. ये चीन की प्राचीन संरचना है जिसका निर्माण 1750 में कराया गया था

summer palace of china
Source: wikipedia

3. समर पैलेस का निर्माण चीनी सम्राट Qianlong ने अपनी मां के साठवें जन्मदिन के उपलक्ष पर करवाया था. 

summer palace of china
Source: wikipedia

4. 1860 में समर पैलेस को ब्रिटिश और फ़्रेंच सेना द्वारा जला दिया गया था. 

summer palace of china
Source: historyisnowmagazine

5. इसका इस्तेमाल शाही परिवार द्वारा ग्रीष्मकाल के दौरान किया जाता था ताकि शहर की गर्मी और शोर-शराबे के दूर समय बिताया जा सके. 

summer palace
Source: viator

6. 1870 में महारानी Dowager Cixi ने इंपीरियाल गार्डन का पुननिर्माण समर रिज़ॉर्ट के तौर पर करवाया और इसका नाम बदलकर समर पैलेस (Yiheyuan) कर दिया था. 

Dowager Cixi
Source: quotepark

7. ऐसा माना जाता है कि समर पैलेस के पुननिर्माण के लिए सैन्य खर्च को लगभग कम कर दिया गया था जिसके परिणाम के रूप में किंग राजवंश 1985 के First Sino-Japanese War में हार गया था. 

First Sino-Japanese War
Source: wikipedia

8. कहा जाता है कि 1900 में इसे 8 शक्तियों द्वारा फिर से तबाह किया गया था और 1950 में इसका फिर से पुननिर्माण किया गया. 

summer palace china
Source: lonelyplanet

9. Qing Dynasty के पतन के बाद 1924 में Beijing municipal government ने इसे अपने अधिन ले लिया और इसे पब्लिक पार्क के रूप में खोल दिया गया.  

summer palace of china
Source: tripadvisor

10. 1998 में इसे UNESCO द्वारा World Heritage site घोषित किया गया था. 

summer palace
Source: unesco

तो दोस्तों, ये थे चीन के समर पैलेस से जुड़े दिलचस्प तथ्य. आपको ये लेख कैसा लगा हमें कमेंट में ज़रूर बताएं.