हर इंसान के लिए उसकी शादी उसके जीवन के सबसे अच्छे पलों में से एक पल होता है और इस पल को यादगार बनाने के लिए वो ज्यादा से ज्यादा एफर्ट्स करने की कोशिश करता है. शादी को लेकर हर व्यक्ति सपने देखता है, लेकिन वहीं कुछ लोग अपनी शादी को बेहद ही साधारण तरीके से करने की ख्वाहिश रखते हैं. आजकल शादी को यादगार बनाने के लिए डेस्टिनेशन वेडिंग का चलन है. इसके अलावा प्री-वेडिंग, वेडिंग और पोस्ट वेडिंग फोटोशूट भी करवाए जाते हैं. साथ ही तरह-तरह के पंडाल सजाये जाते हैं जो थीम बेस्ड होते हैं. वहीं कुछ लोग हवा में शादी करके अपनी शादी को यादगार बना चुके हैं, लेकिन आज हम आपको भारत में हुई एक अनोखी शादी के बारे में बताने जा रहे हैं जो अपने आप में बेहद ही ख़ास तरह की शादी है. जी हां, ये शादी न ही हवा में हुई और ना ही ज़मीन पर, बल्कि ये शादी हुई पानी के अन्दर.

27 जनवरी को केरल के कोवलम के तट पर हुई इस अनोखी शादी में एक देसी दुल्हे ने विदेशी दुल्हन से गहरे समुद्र के अन्दर शादी की. भारत में पहली बार ऐसी अनोखी शादी हुई है और कहा जा रहा है कि ये भारत की पहली 'अंडरवाटर वेडिंग' है.

महाराष्ट्र के निखिल पवार ने ग्रोव बीच पर स्लोवाकिया की यूनिका पोगरान के साथ शादी रचाई. निखिल खुद बांड ओसियन सफारी, कोलवम में डाइविंग इंस्ट्रक्टर है और अपनी शादी को अलग अंदाज़ में करना चाह रहे थे.

निखिल पवार ने The News Minute को बताया, 'जुलाई 2016 में कोवलम के बीच पर ही उनकी मुलाकात यूनिका से हुई थी. इसलिए उन्होंने अपनी शादी के लिए उसी जगह को चुना, जहां उनकी पहली बार मुलाकात हुई थी. वो बताते हैं कि उन्होंने यूनिका को पानी के अंदर ही प्रपोज़ किया था. इसके साथ ही वो बताते हैं कि जब उन्होंने यूनिका को इस अनोखे प्लान के बारे में बताया तो यूनिका को कुछ समझ नहीं आया और वो नरवस हो गई. जब शादी का मंडप समुंद्र के पानी के नीचे होने का पता चला तो वो घबरा गई.

निखिल ने यूनिका से केरल के तिरुवनंतपुरम में कोवलम के पास समुद्र में चार मीटर पानी के नीचे अंडर वॉटर वेडिंग की. आपको बता दें कि वेडिंग सेरेमनी पानी के अंदर करीब 90 मिनट तक चली.

दोनों ने खास तौर से बनाई गई सीपियों की माला एक-दूसरे को पहनाकर पानी के अंदर शादी की रस्में निभाईं.

यूनिका ने सफ़ेद रंग का बेहद खूबसूरत गाउन पहना हुआ था और उनके हाथ में लाल गुलाब का एक गुलदस्ता भी था. दूल्हे निखिल ने नीले रंग का लिबाज पहन रखा था.

आयोजकों का दावा है कि यह भारत की पहली ऐसी शादी है, जो पानी के अन्दर हुई है. इस फ़ोटो में बेहद खूबसूरत अंदाज़ में दूल्हा-दुल्हन एक-दूजे का हाथ थामें हुए दिख रहे हैं.

विवाह आयोजित करने वाले बांड ओसियन सफारी ने नारियल के पत्तों, लकड़ी और पत्तों से समुद्र के गहरे नीले पानी के अंदर एक छोटा सा मंडप भी बनाया, जहां दूल्हा-दुल्हन आराम से खड़े हो सकें और शादी की रस्मों को निभा सकें. इसे भारत की पहली अंडर वाटर शादी माना जा रहा है.

इस शादी में निखिल के कुछ करीबी दोस्त ही मौजूद थे.

कोवलम का यह समुद्री बीच आजकल शादी करने वालों के बीच काफी लोकप्रिय हो रहा है.

शादी का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.