मार्च का महीना शुरू होते ही बच्चों के बोर्ड एग्ज़ाम भी शुरू हो चुके हैं. अच्छे मार्क्स लाने के लिए बच्चे पूरी तरह से तैयारी में लग गए हैं. लेकिन कुछ बच्चे ऐसे भी हैं जो चीटिंग के नए-नए तरीके इजात करने में लगे हुए हैं. चीटिंग शब्द का नाम ज़ुबान पर आते ही हमें स्कूल के उन बैक बेंचर्स की याद आती है, जो साल भर मस्ती करते हैं और एग्ज़ाम आते ही चीटिंग के नए तरीके खोजने में लग जाते हैं. देशभर में दूर-दराज़ गांवों में कई ऐसे स्कूल हैं, जहां आज भी तबियत से चीटिंग होती है. सिर्फ़ हमारे देश में ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया में नक़ल का सहारा लेकर पास होने वालों की कमी नहीं है. जब हम भी बच्चे हुआ करते थे, एग्ज़ाम में किसी सवाल का ज़वाब न आने पर आगे-पीछे वाले की कॉपी में ताक-झांक करने लगते थे. लेकिन ये सब करने से डर भी बहुत लगता था कि कहीं टीचर न देख ले. लेकिन नकलचियों का क्या ही कहना, वो मौके ढूंढ ही लेते हैं.

फर्रों के बिना नकलचियों का गुज़ारा नहीं होता. आज हम आपको नकलचियों के ऐसे ही कारनामे दिखाने जा रहे हैं, जिन्हें देखकर आप भी हैरान रह जायेंगे. 

1. इस तस्वीर से आप लोग वाकिफ़ ही होंगे, इतने ख़तरनाक स्टंट करके ये लोग अपने बच्चों, भाई-बहनों और दोस्तों की मदद कर रहे हैं. नक़ल करने के ऐसे तरीके आपको कम ही देखने को मिलेंगे.

telegraph

2. नक़ल करने में लड़के ही नहीं लड़कियां भी माहिर होती हैं. स्कर्ट के अंदर इस तरह से फर्रे छिपाकर रखना नकलचियों का सबसे सेफ़ हथियार है.

oddee

3. बीमारी का बहाना बनाना, हाथ में पट्टी लगाकर नक़ल करना कोई इनसे सीखे. ऐसी हालत में तो टीचर इनपर शक भी नहीं करते.

twitter

4. पानी की बोतल हो या फ्रूट्स जूस की बोतल, छोटे-छोटे शब्दों में लिखकर नक़ल करने का एक और नायाब तरीका. भला पानी की बोतल को कौन इतने गौर से देखता है.

oddee

5. हाथ पैर पर लिखकर चीटिंग करना नकलचियों के लिए सबसे आसान तरीका होता है.

6. पेन के अंदर रोल बनाकर नक़ल का ये अनोखा तरीका टीचरों को बड़ा परेशान करता है भाई.

oddee

7. ये तरीका बड़ा ही यूनीक है भाई. कहां से आते हैं लोगों के दिमाग़ में ऐसे तरीके ?

twitter

8. इंटरनेट का ज़माना है. ऐसे में मोबाइल को जूतों-मोज़ों में छिपाकर नक़ल करना भी ज़रूरी हो जाता है.

cracked

9. केयरिंग इज शेयरिंग तो सुना था, चीटिंग इज शेयरिंग आज पहली बार देखा है.

theteachersdigest

10. नेल आर्ट तो सुना ही था, लेकिन चीटिंग विद नेल आर्ट पहली बार देखने को मिला है.

चीटिंग करने वाले पास होने के लिए न जाने क्या-क्या तरीके अपनाते रहते हैं? लेकिन हम तो आपसे बस इतना ही कहेंगे कि भईया मेहनत से पास होने में जो मज़ा है वो नक़ल से पास होने में नहीं. इसलिए नक़ल से दूर ही रहें.