12 साल की उम्र में हम और आप या तो स्कूल में पढ़ रहे थे या फिर घर पर दोस्तों के साथ खेल रहे थे. मगर आजकल के बच्चे हम और आप से दो कदम आगे निकल गए हैं. वो पढ़ाई के साथ ही अपने सपनों को भी पूरा करते हैं और उसके लिए जी जान लगा देते हैं. महाराष्ट्र की रहने वाली काम्या कार्तिकेयन भी उन्हीं में से एक हैं.

इन्होंने 12 साल की उम्र में Mt. Aconcagua पर फ़तह हासिल की है. ऐसा करने वाली वो दुनिया की सबसे युवा पर्वतारोही बन गई हैं. Mt. Aconcagua दक्षिण अमेरिका का सबसे ऊंचा पर्वत है. इसकी ऊंचाई 6962 मीटर है. बीते रविवार को अधिकारियों ने इस ख़बर को एक प्रेस रिलीज़ के ज़रिये शेयर किया था.

Source: economictimes

काम्या कार्तिकेयन ने मात्र 12 साल की उम्र में ये नया कीर्तिमान रच डाला है. वो मुंबई की रहने वाली हैं और 7वीं क्लास में पढ़ती हैं. उनके पिता एक नेवी ऑफ़िसर हैं और मां टीचर. काम्या जब 3 साल की थीं तभी से ही उन्हें ट्रेकिंग करने की ट्रेनिंग दी जाने लगी थी. उनके पिता ने बचपन में उन्हें हिमालय पर कई पर्वतों पर ट्रेकिंग करने की कहानियां सुनाई थीं. उन्हीं से प्रेरित होकर काम्या ने एक पर्वतारोही बनने का सपना देखा.

Source: twitter

9 साल की उम्र में उन्होंने हिमालय की कई चोटियों पर फ़तह हासिल कर ली थी. साल 2019 में उन्होंने लद्दाख में 6260 मीटर ऊंचे Mt. Mentok Kangri II पर्वत पर चढ़ाई पूरी की थी. ऐसा करने वाली वो सबसे युवा पर्वतारोही बन गई थी. इसके बाद वो अपने पैशन को फ़ॉलो करती रहीं. उन्होंने अफ़्रीका की Mt. Kilimanjaro यूरोप की Mt. Elbrus और ऑस्ट्रेलिया की Mt. Kosciuszko जैसे पर्वतों पर चढ़ाई की.

Source: twitter

उनके नए कीर्तिमान के बारे में बात करते हुए एक अधिकारी ने कहा- “वर्षों की शारीरिक और मानसिक तैयारी के साथ साहसिक खेलों(एडवेंचर स्पोर्ट्स) में नियमित भागीदारी ने काम्या को कठिन परिस्थितियों में चढ़ाई पूरी करने में मदद की.”

Source: thebridge

काम्या का अगला लक्ष्य सभी महाद्वीपों की चोटियों पर फ़तह हासिल करना है. अगर वो ऐसा कर लेती हैं तो वो Explorers Grand Slam का ख़िताब जीतने वाले चंद साहसी लोगों में शामिल हो जाएंगी. 


काम्या को हमारी तरफ़ से उनकी इस आने वाली परीक्षा के लिए बेस्ट ऑफ़ लक.

Life से जुड़े दूसरे आर्टिकल पढ़ें ScoopWhoop हिंदी पर.