हाथी घोड़ा पालकी, जय कन्हैया लाल की

श्री कृष्ण भगवान यानी विष्णु के 8वें अवतार जिन्होंने धरती पर ब्रिजवासियों को कंस के अत्याचार से मुक्ति दिलाने के लिए जन्म लिया था.

वासुदेव और देवकी की आठवीं संतान, कृष्ण का जन्म मथुरा के एक कारावास में हुआ था. गोकुल के यशोदा और नन्द के यहां उनका लालन-पालन हुआ है और यहीं उनका संपूर्ण बचपन बीता है. बड़े हो कर उन्होंने अपने मामा कंस का वध किया.

बाद में महाभारत के युद्ध के दौरान उन्होंने, अर्जुन के सारथी (रथ चलाने वाला) की भूमिका निभाई और भगवद गीता का ज्ञान दिया जो उनके जीवन की सर्वश्रेष्ठ रचना मानी जाती है.

ख़ैर, मुझे यक़ीन है आप में से अधिकतर लोगों को मेरी ऊपर लिखी सभी बातें पता ही होंगी पर क्या आपको कृष्ण भगवान को दिए अलग-अलग नामों के मतलब पता है? शायद नहीं. तो आइए लेकर कृष्ण भगवान का नाम देखते हैं क्या है उन से प्रेरित कुछ नामों के मतलब

viansh
shobhit
ariv
kanan
krishav
dravin
sarvesh
anish
karnish
sumedh
avyukt
darsh
ishna
ajay
anirudh

Design Credits : Nupur Agrawal