भारत, भिन्न-भिन्न प्रकार की संस्कृतियों, धर्मों, भाषाओं, बोलियों, रंगों और त्योहारों का देश है. दुनियाभर से लोग हमारी इस सांस्कृतिक विरासत को जानने और समझने के लिए भारत आते हैं. प्राचीन इतिहास, ऐतिहासिक धरोहर, वर्ल्ड क्लास विश्वविद्यालय और साइंस एंड टेक्नोलॉजी ये सब कुछ होने के बावजूद भारत को आज भी एक ग़रीब देश की श्रेणी में गिना जाता है, लेकिन ऐसा नहीं है.

Source: pinterest

आज हम आपको भारत के बारे 15 ऐसे फ़ैक्ट्स बताने जा रहे हैं, जिन्हें जानकर आप हैरान रह जायेंगे-

1- हिंदी भारत की राष्ट्रीय भाषा नहीं है!

भारतीय सविंधान में भारत की राष्ट्रीय भाषा का उल्लेख नहीं है. इसका मतलब ये हुआ कि भारत की कोई राष्ट्रीय भाषा नहीं है. संविधान की 8वीं अनुसूची के अंतर्गत भारत सरकार ने आधिकारिक तौर पर हिंदी के साथ 22 भाषाओं को शामिल किया है.

Source: postoast

2. भारत का अपना कोई 'राष्ट्रीय खेल' नहीं है!

महाराष्ट्र के धुले ज़िले के एक स्कूल शिक्षक द्वारा दायर एक RTI के जवाब में केंद्रीय युवा मामले और खेल मंत्रालय ने कहा है कि केंद्र ने किसी भी खेल को देश का 'राष्ट्रीय खेल' घोषित नहीं किया है. हालांकि, हॉकी को भारत का 'राष्ट्रीय खेल' कहा जाता है

Source: indiatoday

3- USB Port की खोज एक भारतीय कंप्यूटर आर्किटेक्ट ने की थी

भारतीय मूल के अमेरिकी कंप्यूटर आर्किटेक्ट अजय वी. भट्ट ने 21वीं सदी में सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाली 'USB Port' की खोज की.

Source: postoast

4- कैकुलस और ट्रिगोनोमेट्री की उत्पत्ति भारत में हुई थी

मैथ्स के दो प्रमुख चैप्टर 'कैकुलस और ट्रिगोनोमेट्री' प्राचीन भारतीय गणितज्ञों की देन है. ट्रिगोनोमेट्री के सबसे प्राचीनतम मूल आर्यभट्ट के 'सूर्यसिद्धांत' में दिखाई पड़ते है

Source: postoast

5- क्या आप जानते हैं भारत में 1 रुपये के सिक्के की उत्पादन लागत 1.11 रुपये आती है?

ये बात सच है. भारत में 1 रुपये के सिक्के की उत्पादन लागत 1.11 रुपये आती है. 2 रुपये के सिक्के की लागत 1.28 रुपये, 5 रुपये के सिक्के की लागत 3.69 रुपये जबकि 10 रुपये के सिक्कों की लागत 5.54 रुपये आती है.

Source: postoast

6- क्या आप जानते हैं कुंभ मेला अंतरिक्ष से भी दिखाई देता है?

ये बात भी सच है कि अंतरिक्ष से कुंभ मेले का दृश्य साफ़ नज़र आता है. कुंभ मेले के दौरान अंतरिक्ष से खींची गई कई तस्वीरें भी सामने आई थीं.

Source: postoast

7- दुनिया का सबसे बड़ा स्कूल भारत में स्थित है

लखनऊ का 'सिटी मॉन्टेसरी स्कूल' छात्रों की संख्या के मामले में दुनिया में सबसे बड़ा स्कूल होने का 'गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड' अपने नाम दर्ज करा चुका है.

Source: postoast

8- इंडियन रेलवे कर्मचारियों के मामले में दुनिया का सबसे बड़ा रेलवे

इंडियन रेलवे कर्मचारियों के मामले में दुनिया का सबसे बड़ा रेलवे है. भारतीय रेल विभाग में 15 लाख से अधिक कर्मचारी काम करते हैं. ये संख्या दुनिया के कई लोकप्रिय शहरों की आबादी से कहीं अधिक है.

Source: outlookindia

9- अमेरिका के बाद भारत में बोली जाती है सबसे ज़्यादा अंग्रेज़ी

संयुक्त राज्य अमेरिका के बाद सबसे अधिक अंग्रेज़ी बोलने वाली आबादी भारत में है. भारत में 11.38% जनसंख्या अंग्रेज़ी भाषा जानती है, जो दुनिया में दूसरे नंबर पर है.

Source: postoast

10- भारत के पहले रॉकेट को साइकिल से और पहले सेटेलाइट बैलगाड़ी से लाया गया था

ये बात 100 फ़ीसदी सच है. सन 1963 में उचित संसाधनों की कमी के चलते भारत के पहले रॉकेट और सेटेलाइट को परीक्षण स्थल तक साइकिल और बैलगाड़ी से पहुंचाया गया था.

Source: postoast

11- 'Pentium Chip' का आविष्कार एक भारतीय आविष्कारक ने किया था?

विनोद धाम को 'पेंटियम चिप' के जनक के रूप में जाना जाता है, पेंटियम चिप के आविष्कार के पीछे विनोद का दिमाग़ था. ये इंटेल की अब तक की सबसे बेस्ट प्रोसेसर चिप्स में से एक है.

Source: postoast

12- क्या आप जानते हैं कि बटन का आविष्कार भारत में हुआ था?

जी हां ये भी सच है कि दुनिया को बटन से रूबरू कराने वाला भारत ही था. भारत में ही पहली बार बटन का इस्तेमाल किया गया था.

Source: postoast

13- 'प्लास्टिक सर्जरी' का आविष्कार भी प्रमुख रूप से भारत में ही हुआ था

क्या आप इस पर विश्वास कर सकते हैं? सुश्रुता नाम के एक प्राचीन भारतीय सर्जन ने 6वीं शताब्दी में 'प्लास्टिक और मोतियाबिंद सर्जरी' के क्षेत्र में चिकित्सा विज्ञान में महत्वपूर्ण योगदान दिया था.

Source: postoast

14- भारत में डॉल्फ़िन को आधिकारिक तौर पर 'Non-Human Persons' के रूप में मान्यता दी गई है

डॉल्फ़िन अन्य जानवरों की तुलना में निश्चित रूप से संज्ञानात्मक रूप से मज़बूत और इंटरेक्टिव हैं. यही कारण है कि भारत सरकार ने निर्देश दिए हैं कि उनके साथ मनुष्यों जैसा व्यवहार किया जाना चाहिए, उन्हें बंदी बनाना भारत में गैर कानूनी है.

Source: postoast

15- भारत में 1 साल में दुनिया की सबसे अधिक फ़िल्में बनती हैं.

भारत 1 साल में सबसे अधिक फ़िल्मों का निर्माण करने वाला दुनिया का इकलौता देश है. बॉलीवुड, टॉलीवुड, कॉलीवुड व अन्य क्षेत्रीय फ़िल्में मिलाकर दुनिया के किसी भी देश की तुलना में भारत में सबसे अधिक फ़िल्में बनाते हैं.

Source: postoast

अगर आपको भी इसी तरह के अविश्वसनीय तथ्य याद हैं, तो हमारे साथ शेयर करें.