हम सबको ही शायद जासूस वाली फ़िल्में पसंद हों, कैसे जासूस छोटे-छोटे सबूतों से जासूस असली अपराधी को पकड़ लेता है. इन सब के साथ जासूस के पास होते हैं ग़ज़ब के गैजेट्स.

ऐसे कूल गैजेट्स का सपना हम सबने ही देखा होगा. मगर क्या आप जानते हैं कोल्ड वॉर के समय जासूस ऐसे बेहतरीन गैजेट्स इस्तेमाल में लाते थे जिनको मुसीबत के वक़्त काम में लाकर वो अपनी जान बचा सकते थे.

Source: marketwatch

द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद अमेरिका और रूस के बीच उत्पन्न तनाव की स्थिति को कोल्ड वॉर कहा जाता है. इस समय देश एक दूसरे की जासूसी करते थे.

आइये जानते हैं ऐसे ही 6 बेहतरीन गैजेट्स के बारे में जो जासूसों ने इस्तेमाल किये:

1.दस्ताने वाली पिस्टल

यह 38 सिंगल शॉट, ब्रेक एक्शन पिस्टल को फ़िलाडेल्फ़ीया में स्टेनली एम. हाइट ने बनाया था और इसे नौसेना इस्तेमाल करती थी. ये बंदूक दस्तानों पर लगी होती थी. दुशमनों से छुपाने के लिए जासूस अक्सर लम्बी आस्तीन के कपड़े पहना करते थे. मुट्ठी बना कर टारगेट को मारने से ये गन चल जाती थी और सामने वाले को पॉइंट-ब्लैंक से गोली लगती थी.

Source: vice

2. जूते में लगा हील ट्रांसमीटर

सुनने में किसी जासूसी फ़िल्म में इस्तेमाल होने वाला जूता लगता है मगर ये कोल्ड वॉर के दौरान इस्तेमाल किया जा रहा था. एजेंट्स की टॉप सीक्रेट बातों को रिकॉर्ड और मॉनिटर करने के लिए जूता के ट्रांसमीटर का उपयोग किया. टारगेट के जूतों में बैटरी और एक माइक्रोफोन चुपके से लगा दिया जाता था जिससे वे चलते फिरते रेडियो स्टेशन बन जाते थे.

Source: crimeandbeauty

3. बटन कम्पास

कोल्ड वॉर के समय अक्सर जासूसों को दुश्मन देश अकेले भेजा जाता था ऐसे में अजनबी जगह में उनके खोने का ख़तरा लगातार बना रहता था. ऐसे में अगर वो खो जाते तो उनकी मदद के लिए था कम्पास, जो बटन में लगा होता था.

Source: wired

4. रोबोटिक मछली

CIA ने इस रोबोटिक मछली को तैयार किया था. इस मछली का नाम "चार्ली" था और इसे रिमोट से कंट्रोल किया जा सकता था. रोबोट को अंडरवाटर इंटेलिजेंस और पानी के नमूने लेने के लिए डिज़ाइन किया गया था.

Source: history

5. लिपस्टिक गन

1960 के दशक में महिलाएं इस छोटी 4.5 मिलीमीटर की सिंगल-शॉट गन मिशन पर्स में ले जाती थीं. इस लिपस्टिक को 'किस ऑफ़ डेथ' भी कहा जाता था. लिपस्टिक के निचले हिस्से को घुमाने से गोली चलती थी.

Source: spymuseum

6. जानलेवा छाता

1978 में लंदन में बुल्गारियाई लेखक जॉर्जी मार्कोव को मारने के लिए इस तरह की छतरी का इस्तेमाल किया गया था. इस छाते में एक ट्रिगर और जहर लगा हुआ था जिसे सामने वाले की जान लेने के लिए इस्तेमाल किया जाता था.

Source: reddit

हैं ना एकदम फ़िल्मी गैजेट्स? ये गैजेट्स उस दौर में खूब सफल रहे थे.