ट्रांसजेंडर यानि समाज का वो तीसरा हिस्सा जिसे इस समाज ने ख़ुद से अलग रखा था. मगर आज इस हिस्से ने इसी समाज में अपनी एक अहम जगह बना ली है. इस जगह को हिला पाना बहुत मुश्किल है. इनकी एक कमी से जो लोग इनसे नाक-मुंह सिकोड़ते हैं उन्हें इनकी कामयाबी को भी देखना चाहिए क्योंकि समाज के सामान्य लोगों को जो चीज़ें आसानी से थाली में परसी हुई मिल जाती हैं, उन्हीं चीज़ों के लिए इन्हें 100 गुना ज़्यादा धक्के खाने पड़े हैं, धिक्कार सहना पड़ा है, तब जाकर कहींं इन्हें वो जगह मिली है, जहां ये सम्मान से जी सकते हैं.

ऐसे ही कुछ ट्रांसजेंडर के बारे में आज आपको बताएंगे:

1. नर्तकी नटराज

Dancer Narthaki Nataraj
Source: newindianexpress

तमिलनाडु की एक प्रसिद्ध नृत्यांगना नर्तकी नटराज भारत में Top Civilian Awards में से एक से सम्मानित होने वाली ट्रांस समुदाय की पहली महिला हैं.

2. एडम हैरी

Adam Herry
Source: navbharattimes

केरल के 20 साल के एडम हैरी को ट्रांसजेंडर होने की वजह से परिवार ने बेदखल कर दिया था. आज हैरी देश के पहले ट्रांसजेडर कमर्श‍ियल पायलट बनने वाले हैं. घर से बेदखल होने के कारण हैरी के पास पैसे नहीं है और इसी के चलते केरल सरकार ने हैरी की ट्रेनिंग का पूरा ख़र्च उठाने का वादा किया है. इसके लिए 23.34 लाख रुपये स्‍वीकृत किए गए हैं. हैरी जल्द ही कमर्शियल पायलट बनकर सबके सामने आएंगे.

3. नाज़ जोशी

Naaz Joshi
Source: justicenews

निफ़्ट ग्रेजुएट नाज़ ने सेक्स-चेंज सर्जरी के बाद 2013 में अपने मॉडलिंग करियर की शुरुआत की. वो एक डिज़ाइनर हैं और जेंडर संवेदनशीलता जैसे मुद्दों पर अपनी राय रखती हैं. नाज़ एक ट्रांसजेंडर मॉडल हैं और वो मॉडलिंग के ज़रिए फ़ंड्स जुटाती हैं.

4. 6 Pack Band

6 Pack Band
Source: bollywoodlife

6 Pack Band पहला ट्रांसजेंडर बैंड है. इसमें 6 सदस्य फ़िदा ख़ान, रवीना जगताप, आशा जगताप, चांदनी सुवर्णकर, कोमल जगताप और भाविका पाटिल शामिल हैं. 2016 में इस बैंड ने फ़ैरेल विलियम्स के 'हैप्पी' के कवर सॉन्ग की रिकॉर्डिंग की और लोगों को दिल और दिमाग़ में बस गए.

5. संजना सिंह

Sanjana Singh
Source: deccanherald

ट्रांसजेंडर संजना सिंह मध्य प्रदेश को सामाजिक न्याय और विकलांग कल्याण विभाग के निदेशक कृष्ण गोपाल तिवारी के निजी सचिव के तौर पर नियुक्त किया गया है. इसके बाद वो सरकारी नौकरी पाने वाली राज्य की पहली ट्रांसजेंडर बन गई हैं.

6. स्वाती बिधान बरुआ

Swati Bidhan Baruah
Source: scroll

असम के एक ज्ञात ट्रांसजेंडर कार्यकर्ता को लोक अदालत में एक सुलहकर्ता के रूप में नियुक्त किया गया है. 27 साल की स्वाति बिधान बरुआ की नियुक्ति 2017 में पश्चिम बंगाल में जोइता मोंडल और महाराष्ट्र में विद्या कांबले की नियुक्ति के बाद हुई है.

7. मालिनी दास

Malini Das
Source: udaybulletin

23 वर्षीय ट्रांसजेंडर मालिनी दास जयपुर की रहने वाली हैं. मालिनी ने जयपुर के एक विश्वविद्यालय से कंप्यूटर विज्ञान में इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन किया है. ऐसा करने वाली वो ट्रांसजेंडर समुदाय की पहली महिला हैं.

8. Tenzin Mariko

Tenzin Mariko
Source: tricycle

Tenzin के जन्म का नाम Tenzing Ugen रखा गया था. वो 6 भाइयों में से एक थीं. 1990 में इनका परिवार बीर, हिमाचल प्रदेश में बसने के लिए भारत आया था. 9 साल की उम्र में Tenzin को आश्रम भेजा गया. Tenzin की हरकतें लड़कियों जैसी थीं जिसकी पुष्टि उसके दोस्तों और परिवार वालों ने की है. अपनी सच्चाई को स्वीकारते हुए Tenzin ने 2014 में ख़ुद को बदलने का निर्णय लिया. इसके चलते उसने लड़कियों के कपड़ों में एक डांस वीडियो पोस्ट किया जिसके बाद Tenzin को अपमानजनक नामों और टिप्पणियां मिलनी शुरू हो गईं. ऐसा करने वाली Tenzin तिब्बत की पहली ट्रांसजेंडर हैं.

9. अरुण कुमार, पी श्रीजा

Arun Kumar and P Srija
Source: theyouth

अक्टूबर, 2018 में, अरुण कुमार और पी श्रीजा ने तमिलनाडु के थूथुकुडी में एक मंदिर में शादी की. मगर उनकी शादी को न तो सरकार ने माना और न ही मंदिर प्रबंधन ने. इसकी वजह श्रीजा का ट्रांसवुमन होना था, जबकि कुमार एक सीआईएस मैन हैं. इनकी शादी को सरकार से भी रजिस्टर्ड न करने के चलते उन्होंने मद्रास उच्च न्यायालय की मदुरै पीठ में याचिका दायर की. इसके बाद 22 अप्रैल को, मदुरै पीठ ने ज़िला रजिस्ट्रार ने ट्रांसजेंडर महिला और सीआईएस पुरुष के बीच विवाह पंजीकृत करने का आदेश दिया.

इन 9 ट्रांसजेंडर्स ने साबित कर दिया कि कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती!

Life से जुड़े आर्टिकल ScoopwhoopHindi पर पढ़ें.