अगर आप में कुछ पाने की ताक़त है, तो आपको कोई भी मुश्किल रोक नहीं सकती. इस बात को साबित किया है एसिड अटैक सर्वाइवर और Stop Sale Acid Campaigner, लक्ष्मी अग्रवाल ने. लक्ष्मी IIT-BHU के तीन दिवसीय Techno Management Fest-Technex-19 में शामिल हुई थीं. इस दौरान उन्होंने मोटीवेशनल लेक्चर देते हुए अपनी आपबीती स्टूडेंट के साथ शेयर की, जिसे सुनकर सभी भावुक हो गए.

Source: tosshub

उन्होंने इवेंट के दौरान TOI को बताया, एसिड उनके चेहरे को डरावना बना सकता है, लेकिन उनके सपनों को नहीं.

Source: indiatimes

अपनी आपबीती बताते हुए कहा,

उसने मेरे चेहरे पर एसिड फेंका था, मेरे सपनों पर नहीं. एसिड से मेरा चेहरा भले ही बदल गया है, लेकिन मेरे सपने नहीं.

- Laxmi Agrawal

मैं पीड़िता नहीं, मैं सर्वाइवर हूं. चेहरा उसे ढकना चाहिए, जिसने मेरे ऊपर एसिड फेंका. मैं नहीं ढकूंगी.

- Laxmi Agrawal

Source: indianwomenblog

आगे बताती हैं,

वो रोज़ ट्यूशन जाने के रास्ते पर मेरा पीछा करता था. वो मुझसे शादी करना चाहता था, जबकि वो मुझसे उम्र में तीन गुना बड़ा था. मेरे बार-बार मना करने पर उसने गुस्से में आकर मुझपर एसिड फेंक दिया. वो अकेला नहीं था, बल्कि दो लोग और थे. इसके बाद वो लोग वहां से भाग गए. तभी वहां पास में खड़े ऑटो ड्राइवर ने मुझे दिल्ली के सफ़दरजंग अस्पताल में पहुंचाया. इस दौरान मैंने अपने चेहरे की जलन के साथ-साथ नौ बड़ी सर्जरीज़ के दर्द को भी सहा.

- Laxmi Agrawal

Source: ropose

एसिड ने तो दर्द दिया ही साथ ही कुछ लोगों ने भी उनका साथ नहीं दिया. उन्होंने एक नई ज़िंदगी शुरू करने के लिए कई जगह जॉब पाने की कोशिश की, लेकिन उनका चेहरा ख़राब होने की वजह से सबने मना कर दिया. तब उन्होंने एक आर्गेनाइजेशन बनाने का निर्णय लिया, जिसके ज़रिए वो अन्य पीड़ित महिलाओं की मदद कर सकें.

Source: timesofindia

आपको बता दें, जल्द ही लक्ष्मी अग्रवाल की ज़िंदगी पर एक फ़िल्म बनने वाली है जिसका नाम ‘छपाक’ है, और उसमें लक्ष्मी की भूमिका दीपिका पादुकोण निभाती नज़र आएंगी.