ऐसी क्या बात है जो चार राज्य की पुलिस फ़ोर्स 42 साल के ‘बाहुबली’ के पीछे पड़ी हुई है?

जम्मू-कश्मीर, हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश की पुलिस विभाग चाहती है कि ‘बाहुबली’ उनके साथ काम करे. वैसे ये बाहुबली है कौन?

6 फ़ीट 2 इंच लंबे राजीव पवार भारत के सबसे अधिक प्रतिभाशाली डिफ़ेंस ट्रेनर हैं. सब उनकी प्रतिभा और कद-काठी की वजह से ‘बाहुबली’ कहते हैं. राजीव Central Industrial Security Force(CISF) में डिप्टी कमांडेंट के पद पर बहाल हैं और National Industrial Security Academy में ट्रेनिंग देते हैं.

svpnpa

हाल ही में उन्होंने जम्मू-कश्मीर के 40 ख़ास पुलिसकर्मियों को एंटी-फ़िदाइन स्कवॉड के लिए ट्रेनिंग दी है. अक्टूबर महीने में राजीव अन्य 40 अफ़सरों को ट्रेन करेंगे. इसके अलावा उन्हेंने बीते दिनों में आठ हज़ार CISF जवानों को भी ट्रेनिंग दी है, जो देश के विभिन्न कोने में बहाल हैं.

हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश की पुलिस विभाग चाहती है कि राजीव उनकी स्पेशल टीम को ट्रेन करें.

राजीव की शूटिंग और जवाबी कार्रवाई की क्षमता साल 2002 में नोटिस की गई, जब उन्होंने सीमा सुरक्षा बल द्वारा करवाए जा रहे जवाबी कार्रवाई कोर्स में उन्होंने टॉप किया था.

उसके बाद से राजीव पवार ने देश-विदेश में 30 से ज़्यादा जवाबी कार्रवाई ट्रेनिंग कोर्स में हिस्सा लिया. उसमें 2013 और 2015 में अमेरिका में ‘Crisis Response Team’ और ‘Post Blast Investigation Course’, उसके पहले साल 2011 में ‘Anti-Terrorism Course’ भी शामिल है.

इन कोर्स के बदौलत राजीव अब ख़ुद इसके मास्टर बन चुके हैं. 2016 में अभिनेता अक्षय कुमार राजीव से मिले थे, तब इतने प्रभावित हुए थे कि उन्होंने अपनी फ़िल्म में उनसे ही ट्रेनिंग लेने की इच्छा ज़ाहिर की थी.

राजीव के बारे में CISF के डायरेक्टर जनरल राजेश रंजन कहते हैं…

 हालांकि जम्मू-कश्मीर की पुलिस आतंकी हमलों के लिए ट्रेन्ड है, फिर भी उन्हें(पुलिस विभाग) लगता है कि पनवर उन्हें स्पेशल स्किल सिखा सकते हैं.

आगे उन्होंने कहा  ट्रेनिंग के बाद जम्मु-कश्मीर पुलिस की ओर से सकारात्मक प्रक्रिया मिल रही है. इस ट्रेनिंग का इस्तेमाल वो ज़मीनी कार्रवाई में करेंगे. राजेश रंजन ने कहा, ‘हमारी कोशिश है कि हम अपने सुरक्षा बलों को अंतरराष्ट्रीय स्तर की ट्रेनिंग दें.’

Source: indiatoday