आज दुनियाभर में प्लास्टिक वेस्ट को कम करने और उससे निपटने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं. भारत में भी सिंगल यूज़ प्लास्टिक को कम करने की मुहिम छेड़ी गई है. ऐसे में इटली से एक राहत की ख़बर आई है. यहां के Bars पास्ता स्ट्रॉ (Pasta Straws) इस्तेमाल करने लगे हैं. उनके इस कदम की जितनी तारीफ़ की जाए कम है.

Pasta Straws

Straw ऐसी चीज़ है जो एक बार ही इस्तेमाल होती है. प्लास्टिक से बने होने के कारण ये पर्यावरण को काफ़ी नुकसान पहुंचाती है. इसे कम करने के लिए इटली के Bars में पास्ता स्ट्रॉ का इस्तेमाल किया जा रहा है. पर्यावरण को प्लास्टिक से बचाने की उनकी ये छोटी सी कोशिश बहुत ही कारगर साबित हो सकती है.

Pasta Straws

पास्ता से बने इन स्ट्रॉ को बनाने का काम कर रही है Stroodles. रेडिट पर एक यूज़र ने इसकी एक तस्वीर शेयर की थी. इस फ़ोटो को लोग जमकर शेयर कर रहे हैं. साथ ही प्लास्टिक की समस्या से लड़ने के इस आइडिया की तारीफ़ भी कर रहे हैं. आप भी देखिए:

Pasta Straws

ये स्ट्रॉ 1 घंटे तक कोल्डड्रिंक में सर्वाइव कर सकते हैं. यानि ये एक घंटे तक आप अपनी ड्रिंक को इसके ज़रिये आराम से पी सकते हैं. साथ ही ये बायोडिग्रेडेबल भी हैं. इन्हें इस्तेमाल करने के बाद आप इन्हें मिट्टी में डाल सकते हैं, ये खाद बन जाते हैं.

Pasta Straws

इस कंपनी के मालिक Maxim Gelmann ने इनके बारे में बात करते हुए कहा- 'ये सिर्फ़ एक शुरुआत है. हम इनके ज़रिये प्लास्टिक की समस्या से लड़ना चाहते हैं. भले ही ये एक छोटा कदम हो मगर हमें यक़ीन है कि इसके परिणाम बहुत ही दूरगामी होंगे.'

Pasta Straws

उन्होंने आगे कहा- 'Stroodles एक आंदोलन है, जिसके ज़रिये हम लोगों को जागरुक करना चाहते हैं. पास्ता से बने ये स्ट्रॉ प्लास्टिक के ख़िलाफ़ हमारे आंदोलन की बस पहल है. हम इसे और आगे तक लेकर जाएंगे. हम चाहते हैं कि लोग अपने गिलास में पास्ता स्ट्रॉ क्यों है ये सवाल ख़ुद से पूछें. ताकि उन्हें एहसास हो की प्लास्टिक की समस्या कितनी विकराल हो चुकी है. फिर शायद वो अपने स्तर पर भी इससे लड़ने के लिए प्रेरित हो सकेंगे.'

Pasta Straws

Stroodles स्ट्रॉ गर्म पेय पदार्थों के लिए नहीं हैं. हालाकिं, चाय-कॉफ़ी जैसी हॉट ड्रिंक्स को उन्हें स्टिर करने यानी चीनी आदि मिलाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है. ये गर्म पेय पदार्थों में 4-5 मिनट तक टिक सकते हैं.

इन नए प्रकार के स्ट्रॉ के बारे में आपका क्या ख़्याल है. कमेंट कर हमसे भी शेयर करें.

Life से जुड़े दूसरे आर्टिकल पढ़ें ScoopWhoop हिंदी पर.