5 सितंबर यानी शिक्षक दिवस यानी स्कूल की यादें यानी मास्टर जी की छड़ी. होंगे नियम क़ानून कि शिक्षक बच्चों को नहीं पीट सकते. लेकिन हक़ीक़त सबको पता है, सबने पीठ पर मुक्के खाए हैं.

जब शिक्षक का नाम लेते ही यादें पिटने-पटाने वाली आती हैं, तब हम नॉर्मली शिक्षक दिवस की बधाई कैसे दे सकते हैं! इसलिए हमने बॉलीवुड के मशहूर सीन से उसके असली डायलॉग को निकाल कर उसकी जगह स्कूल वाले डायलॉग फ़िट कर दिए हैं.

आपने हमारे कारनामे देख लिए अब कमेंट बॉक्स में अपनी कारस्तानी भी दिखाइए.