2020 की अलग ही तस्वीर थी हम सबके दिल-दिमाग़ में लेकिन वक़्त को कुछ और ही मंज़ूर था. इस समय दुनिया भर में बड़े से बड़े देश की स्तिथि कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से उलट-पुलट चुकी है.

लाखों जानें तो जा ही चुकी है, साथ ही अर्थव्यवस्था की भी जान निकली जा रही है. 


ऐसे में सरकार से ले कर हर एक नागरिक, Covid-19 की इस लड़ाई में अपना योगदान दे रहा है. Lockdown में हम घर बैठे संक्रमण की इस चेन को रोकने की कोशिश कर रहे हैं, तो डॉक्टर्स और पुलिस बाहर निकल कर स्तिथि को नियंत्रण में लाने में लगे हैं.

दुर्भाग्य से इस लड़ाई के लिए जो सबसे ज़रूरी चीज़ है "जांच", उसे ले कर आम लोगों के बीच कई ग़लतफ़हमियां फैल गयी हैं और उससे एक डर पैदा हो गया है. इसी डर की वजह से वो जांच कराने से बचते हैं. "जांच बचाये जान", ये हर एक इंसान की ज़िम्मेदारी है कि हम इस बात को न सिर्फ़ समझें, बल्कि हर किसी को समझाएं, वरना ये लड़ाई बहुत लंबी चलेगी.

इसी उद्देश्य के साथ एक बड़ा क़दम उठा रहा है ACT Grants (Action Covid-19 Team). कई जाने-माने व्यापारियों और इंडिया के स्टार्टअप्स द्वारा 100 करोड़ रुपये की फ़ंडिंग के सहारे, ACT Grants कई पहल कर रहा है. 

टेस्टिंग की जागरूकता फैलाने के लिए इस कैम्पेन को बॉलीवुड सितारों समर्थन मिला है.   


बॉलीवुड के साथ-साथ पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी, राहुल द्रविड़ ने भी लोगों से जांच कराने की अपील की.
 

ACT Grants Initiative के तहत इनोवेटिव कंपनीज़ और आइडियाज़ को भी सपोर्ट करा जा रहा है. इस मुश्किल समय में आप भी जांच के महत्व को समझिये और अगर कोई भी लक्षण दिखें, तो बेझिझक डॉक्टर से सलाह लीजिये.


आख़िर, जान है तो जहान है!