सात समंदर पार से हम आपके लिए आज एक ऐसी ख़बर लेकर आए हैं जो आपका दिन बना देगी.

स्कूलों में बच्चे अक्सर झुंड बनाकर दूसरे बच्चों को परेशान करते है और उनका कई बार शोषण तक करते हैं. ये हर दूसरे स्कूल की कहानी है, चाहे भारत हो या अन्य किसी देश का स्कूल.

bullying
Source: sabafamilyfoundations

अमेरिका के एक शहर मेम्फिस में MLK स्कूल के दो बच्चों, क्रिस्टोफर ग्राहम और एंटवान गैरेट ने अपने एक सहपाठी मदद की.

माइकल टॉड को कुछ बच्चे पिछले तीन हफ़्ते से इसलिए परेशान कर रहे थे क्योंकि वो हर दिन एक ही तरह के कपड़े पहन कर आता था.

क्रिस्टोफर ग्राहम और एंटवान गैरेट से ये देखा न गया और वो दोनों अपने कपड़े, जूते और वो हर चीज़ लाकर माइकल को दी जिससे कोई उसे और परेशान न कर सके.

क्रिस्टोफर ग्राहम और एंटवान गैरेट का ये वीडियो सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो गया.

'मुझे पूरी ज़िंदगी डराया और परेशान किया गया है. मेरे पास सच में घर पर कपड़े नहीं है. मेरी मां मेरे लिए कपड़े नहीं ख़रीद सकती क्योंकि मैं बहुत जल्दी बड़ा हो रहा हूं.', टॉड ने बताया.

ग्राहम ने FOX13 से की बात में कहा, 'जब मैंने लोगों को हंसते और उसे परेशान करते देखा, तो मुझे लगा जैसे मुझे कुछ करने की ज़रूरत है.'

'तुम लोग मेरी पूरी ज़िदगी के सबसे अच्छे लोग हो.' टॉड ने क्रिस्टोफर ग्राहम और एंटवान गैरेट को कहा.

students
Source: ladbible

'ये मेरे लिए एक भावुक पल था. मैं रोने वाला था.' गैरेट ने टॉड को कपड़े देने की बात कही, जिसमें उसके एक नई जोड़ी के जूते भी शामिल थे.

ग्राहम भी लगभग रोने लगा था खासकर जब टॉड ने बाद में उसको बताया कि वो और गैरेट पहले लड़के थे जिसने उसे पहली बार कोई तोहफ़ा दिया.