अकसर ही हम ख़बरों में कुत्ते और मालिक के किस्से सुनते रहते हैं. पर हाल में जो ख़बर पढ़ने को मिली, उसने आंखें नम कर दीं. ये कहानी है ऐसे कुत्ते की जो अपने मालिक के पास पहुंचने के लिये 200 किलोमीटर पैदल चला. वो मालिक जिसने बिना कुछ सोचे समझे ख़ुद से अलग कर दिया था.

क्या है पूरा मामला?

The Siberian Times की रिपोर्ट के मुताबिक, मारू नामक इस कुत्ते की नस्ल बुलमास्टिफ़ है. मारू के मालिक ने उसे इसलिये छोड़ दिया, क्योंकि उसे मारू से एलर्जी हो रही थी. वहीं मारू को जब एक ट्रेन से ले जाया जा रहा था, तब वो लोगों को गच्चा देकर एक स्टेशन के बाहर उतर गया. अंधेरा होने की वजह से वो वहां से भागने में कामयाब रहा, जिसके बाद उसे ढूंढ़ने के लिये सर्च ऑपरेशन चलाया गया.

Source: jagran

बताया जा रहा है कि इस दौरान मारू साइबेरिया के जंगलों से होकर भी गुज़रा, जहां उसका सामना भेड़िये और भालू से भी हो सकता था. ख़ैर, सर्च ऑपरेशन के ढाई दिन बाद मारू मिल गया. हैरानी वाली बात ये है कि मारू ठीक उसी जगह मिला, जहां 6 महीने पहले उसके ओनर ने छोड़ दिया था. वहीं दुख़ की बात ये है कि जब मारू मिला उसकी हालत काफ़ी बुरी थी.

Source: news18

मारू के शरीर पर चोट के निशान थे. इसके साथ ही उसका पैर और थूथन भी टूटी हुई थी और उसकी आंखों में आंसू थे. अब तक कुत्ते और मालिक की कई दांस्ता सुनी थी, पर रूस के मारू का प्यार काफ़ी अनोखा था.

Source: Jagran