17 अक्टूबर से नवरात्रि यानि की दुर्गा पूजा की शुरुआत होने जा रही है. इस दौरान हिंदू धर्म में मां दुर्गा की पूजा बेहद महत्वपूर्ण मानी जाती है. इस साल ये त्योहार 17 अक्टूबर 2020 से शुरू होगा और 25 अक्टूबर 2020 तक जारी रहेगा. 26 अक्टूबर 2020 को लोग दशहरा मनाएंगे, जो बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है.

Source: outlookindia

इस साल कोरोना महामारी को देखते हुए 'केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय' द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन करने पर ही आयोजन की अनुमति दी जाएगी. कोरोना की वजह से इस साल दुर्गा मां के आगमन की तैयारी उस तरह की नहीं हो पा रही है जैसी होनी चाहिए थी. बावजूद इसके राज्य सरकारों ने कई सारी पाबंदियों के मद्देनज़र कुछ मशहूर पंडालों को उत्सव की छूट भी दे दी है.

Source: outlookindia

इसलिए आप निराश न हो, क्योंकि देशभर में इन 10 ख़ास जगहों पर दुर्गा पूजा अनोखे अंदाज़ में मनाई जाएगी- 

1- बागबाज़ार दुर्गा पूजा (कोलकाता) 

कोलकाता के 'बागबाज़ार' में 100 साल से अधिक समय से दुर्गा पूजा का आयोजन होता आ रहा है. इस साल भी राज्य सरकार ने 'बागबाज़ार' में दुर्गापूजा की अनुमति दी है. इस दौरान सीमित समय में सीमित लोगों को ही दर्शन का मौका मिल पायेगा. दुर्गा मां के दर्शन दूर से ही करने होंगे, मास्क पहनना अनिवार्य होगा. इस बार 'बागबाज़ार' पंडाल के बाहर मेला नहीं लगेगा. 

Source: revv

2- लतासिल दुर्गा पूजा (असम) 

असम के गुवाहाटी शहर की 'लतासिल दुर्गा पूजा' काफ़ी प्रसिद्ध है. लतासिल अपने थीम पंडाल के लिए मशहूर है. इस साल प्रशासन ने पंडाल बड़े और सभी तरफ़ से खुले बनाए जाने के निर्देश दिए हैं. इस दौरान कम से कम 1 मीटर की दूरी के लिए पर्याप्त स्थान होना भी चाहिए और एक बार में 10 से 30 से अधिक व्यक्ति इकट्ठे नहीं होने चाहिए. मास्क का उपयोग सभी के लिए अनिवार्य होगा. पंडाल के प्रवेश और निकास द्वार पर हैंड सेनिटाइज़र रखना होगा. 

Source: facebook

3- लोखंडवाला दुर्गोत्सव (मुंबई) 

अंधेरी के लोखंडवाला कॉम्प्लेक्स में मनाया जाने वाला ये 'दुर्गोत्सव' बेहद प्रसिद्ध है. हल साल यहां पर प्रतिदिन लाखों लोग दुर्गा मां के दर्शन को आते हैं. लेकिन इस साल सिमित लोगों को ही आने की इजाज़त दी जाएगी. इस साल यहां पर लोगों के एंजॉयमेंट के लिए मेले के बदले आर्ट प्रदर्शनी का आयोजन किया जायेगा.

Source: outlookindia

4- काली मंदिर सीआर पार्क (दिल्ली) 

दिल्ली के सीआर पार्क की दुर्गा पूजा हमेशा से ही बेहद पॉपुलर रही है. कोरोना महामारी के बावजूद इस साल काली मंदिर में लोगों को कई तरह की पाबंदियों के साथ दुर्गा मां के दर्शन के मौके मिलेंगे. हालांकि, इस बार यहां पर खाने पीने के ज़्यादा स्टॉल देखने को नहीं मिलेंगे, लेकिन हर साल की तरह इस बार भी लोगों को Dhaak की थाप पर नाचने का मौका ज़रूर मिलेगा.

Source: indiatvnews

5- जैतपुरा दुर्गा पूजा (वाराणसी) 

वाराणसी के जैतपुरा में 'बागेश्वरी देवी दुर्गा पूजा समिति' द्वारा आयोजित दुर्गा पूजा भी लगभग 4 दशक पुरानी है. हर साल यहां पर नई नई थीम के पांडाल बनाए जाते हैं. इस बार यहां लोगों को जागरूक करने के लिए कोरोना थीम के पंडाल भी बनाए गए हैं.

Source: varanasiview

6- कॉलेज स्क्वायर दुर्गा पूजा (कोलकाता)

कोलकाता के 'कॉलेज स्क्वायर' की दुर्गा पूजा भी बेहद प्रसिद्ध है. दुर्गा पूजा के दौरान कोलकाता में घूमने वाली जगहों में कॉलेज स्क्वायर सबसे हैपनिंग जगह है. पिछले साल यहां पर पंडाल पानी की झील के ऊपर बनाया गया था. इस साल आयोजकों ने कोरोना को देखने हुए एक अलग थीम रखी है. पंडाल को विभिन्न तरह की लाइटों के साथ बेहद ख़ूबसूरती के साथ सजाया गया है.

Source: revv

7- कश्मीरी गेट दुर्गा पूजा (दिल्ली) 

दिल्ली के कश्मीरी गेट की दशकों पुरानी दुर्गा पूजा भी बेहद पॉपुलर है. हमेशा की तरह इस साल भी यहां पर पारंपरिक तरीके से ही दुर्गा पूजा का आयोजन किया जा रहा है, लेकिन इस बार यहां पर मां दुर्गा की सवारी नहीं निकलेगी. सीमित लोगों को ही दर्शन के मौके मिलेंगे.

Source: timesofindia

8- मछुआ टोली दुर्गा पूजा (पटना) 

बिहार की राजधानी पटना के मछुआ टोली में 'एथेलेटिक ब्वायज़ क्लब' द्वारा पिछले 60 सालों से दुर्गा पूजा का आयोजिन किया जा रहा है. मछुआ टोली में हमेशा से ही दुर्गा मां की प्रतिमा अलग-अलग प्रकार की बनाई जाती है. पिछले साल यहां पर 18 हाथ और 25 शीश वाली मां दुर्गा की 15 फुट ऊंची प्रतिमा बनाई गई थी.

Source: jagran

9- बालू बाज़ार पूजा पंडाल (कटक) 

ओडिशा के कटक शहर के बालू बाज़ार की दुर्गा पूजा 500 साल से अधिक पुरानी बताई जाती है. 'बिनोद बिहारी बालू बाज़ार पूजा कमिटी' देश का सबसे पुराना दुर्गा पूजा आयोजक है. यहां के पंडाल हमेशा से ही लोगों के आकर्षण का केंद्र होते हैं. इस बार भी ऐसा ही होगा, लेकिन भव्यता और लोगों की संख्या काम होगी.

Source: timesofindia

10- बकरी बाज़ार दुर्गा पूजा (रांची) 

रांची के प्रमुख पूजा पंडालों में शामिल 'भारतीय युवक संघ बकरी बाज़ार' इस बार सादगी के साथ दुर्गा पूजा का आयोजन कर रहा है़. कोरोना के कारण इस साल पहले की तरह भव्यता नहीं दिखेगी. अबकी बार दुर्गा मंदिर के बगल में छोटा सा पंडाल बनाया जा रहा है. पंडाल को ऐसा तैयार किया जा रहा है कि भक्त दूर से ही मां का दर्शन करते निकल जाएंगे. इस बार पंडाल 15 फ़ीट ऊंचा और 15 फ़ीट चौड़ा बनाया गया है.

Source: prabhatkhabar

तो सुरक्षा के साथ हो जाइए तैयार और इन पंडालों का आनंद अठाइये.