कहते हैं न कि इतिहास में ही इतिहास छुपा होता है.  

इतिहास के बारे में आपने बहुत कुछ पढ़ा, लिखा और सुना होगा, लेकिन इतिहास में भी कुछ इतिहास छुपे होते हैं, ये शायद कम ही लोगों को मालूम होगा. आज हम आपका दुनिया की कुछ ऐसी ही ऐतिहासिक चीज़ों से रुबरु कराने जा रहे हैं. इतिहास के पन्नों में इन घटनाओं का ज़िक्र तो है, लेकिन उनके रहस्य के बारे में इतिहास की किताबें, अब भी कोरे कागज के सामान हैं.   

चलिए जानते हैं विश्व इतिहास की ऐसी कौन-कौन सी घटनाएं हैं जो आज भी लोगों के लिए रहस्य का विषय बनी हुई हैं- 

1- चंगेज़ ख़ान की कब्र कहां है ये किसी को भी नहीं पता   

चंगेज़ ख़ान के बारे में तो आप सभी ने सुना ही होगा. जिसने मंगोल साम्राज्य के विस्तार में अहम भूमिका निभाई. चंगेज़ ख़ान की मृत्यु सन 1227 में हुई थी. उनकी मृत्यु को लेकर कहा जाता है कि, जहां उन्हें दफ़न किया गया उसके बारे में कोई नहीं जनता. मंगोलियाई लोग आज भी उनकी कब्र खोज कर रहे हैं.  

2- चूने से बनी बुद्ध प्रतिमा निकली सोने की मूर्ति  

बैंकॉक में करीब 600 साल पहले 9 फ़ुट ऊंची चूने से बनी एक बुद्ध प्रतिमा स्थापित की गई थी. उस समय इस बुद्ध प्रतिमा को एक टीन की छत से ढंक दिया गया था. साल 1955 में ये मूर्ति ग़लती से गिरकर टूट गई. लेकिन लोग तब हैरान रह गए जब उनको इसके अंदर से शुद्ध सोने की बुद्ध प्रतिमा देखने को मिली. आज इसे 'Phra Phuttha Maha Suwan Patimakon' के नाम से जाना जाता है. 

3- 'Byzantine Secret Weapon' कैसे बनाया जाता है ये कोई नहीं जानता  

इसे ग्रीक फ़ायर के नाम से भी जाना जाता था. ये एक गैस पाइप की तरह दिखता था, जिसमें से आग निकलती थी. सन 670 से 1453 के आसपास इस हथियार का इस्तेमाल बीज़ान्टिन शासक युद्ध के दौरान किया करते थे. ये हथियार पानी में भी जलने में सक्षम था. इसके इस्तेमाल से पानी में आग की लपटें दूर दूर तक फ़ैल जाती थी.   

4- आयरन मास्क वाले शख़्स की पहचान आज भी है रहस्य  

सन 1680 के दशक में राजा लुइस XIV ने फ़्रांस पर शासन किया था. इस दौरान एक शख़्स को आजीवन कैद की सजा सुनाई गयी थी. इस शख़्स की पहचान छिपाने के लिए उसके चहरे पर लोहे का मास्क लगा दिया गया था. लोहे के मुखौटे के पीछे कौन था इसके बारे में आज तक किसी को नहीं मालूम.  

5- राजा टुट को कहां दफ़नाया ये किसी को नहीं मालूम  

किंग टुट की मृत्यु करीब 3000 साल पहले हो गई थी, लेकिन आज भी उनकी कब्र के बारे में किसी को कुछ नहीं मालूम. हालांकि, 1922 तक पुरातत्वविदों ने उनकी कब्र बचा कर रखी थी. जब हावर्ड कार्टर ने इस कब्र का पर्दाफाश मिस्र के राजा की कब्र के रूप में की तो पुरातत्वविदों ने अपनी ग़लती स्वीकार करनी पड़ी.  

6- कंक्रीट बनाने की रोम की प्राचीन विधि को आज तक कोई नहीं जान पाया 

कंक्रीट बनाने वाली रोम की प्राचीन विधि को आज तक कोई नहीं जान पाया है. कई लोगों ने कोशिश की, लेकिन 2 हज़ार साल बाद भी ये लोगों के लिए मिस्ट्री बनी हुई है. इस विधि से रोम में बने गुंबदों को आज भी चमत्कारिक माना जाता है.  

7- अमेरिकी राष्ट्रपति Franklin Delano Roosevelt की सीक्रेट ट्रेन  

अमेरिका के 32वें राष्ट्रपति Franklin Delano Roosevelt के बारे में कहा जाता है कि वो पोलियो से ग्रसित थे. 39 साल की उम्र के बाद व्हीलचेयर पर आ गए थे. अपनी इस कमी को छुपाने की उन्होंने काफ़ी कोशिशें भी की थी. वो ग्रैंड सेंट्रल टर्मिनल से वाल्डोर्फ एस्टोरिया तक बनी एक गुप्त सुरंग के ज़रिये यात्रा किया करते थे, ताकि लोग उन्हें देख न सकें.    

8- मिस्र की इस चित्रलिपि के रहस्य को आज तक कोई पूरी तरह से जान नहीं पाया  

भले ही हमने और आपने कई प्रकार की 'चित्रलिपि' देखी होंगी, लेकिन मिश्र की इस चित्रलिपि के रहस्य को आज तक कोई पूरी तरह से जान नहीं पाया है. आधुनिक विद्वानों ने कई प्रतीकों के रहस्य को उजागर किया है, लेकिन ये आज भी एक रहस्य बनी हुई है.  

9- जॉर्ज वाशिंगटन के पास एक सीक्रेट स्पाई रिंग थी 

जॉर्ज वाशिंगटन अमेरिका के प्रथम राष्ट्रपति थे. कहा जाता है कि उनके पास एक सीक्रेट स्पाई रिंग थी. बेंजामिन टालमडगे को मिली इस 'Culper Spy Ring' में कई गुप्त सूचनाएं मिली थी. वाशिंगटन को एजेंट 711 के रूप में भी जाना जाता है. अमेरिकी क्रांति के दौरान उन्होंने कई ख़ुफ़िया जानकारी इकट्ठी की थीं.  

10- जन्म नियंत्रण के लिए प्राचीन रोमन हर्बल विधि  

'Birth Control' के लिए इस प्राचीन रोमन हर्बल विधि के बारे में आज भी किसी को कुछ नहीं मालूम. प्राचीन काल में रोमन डॉक्टरों ने जन्म नियंत्रण के लिए एक नायाब तरीका खोज निकाला था, जिसे सिल्फ़ियम कहा जाता था. ये सौंफ़ के समान एक जड़ी बूटी का उपयोग करके एक गुप्त नुस्खे पर निर्भर थी. 

11- अमेरिका का मैनहट्टन प्रोजेक्ट जिसे सीक्रेट रखा गया है  

द्वितीय विश्व युद्ध में प्रवेश करने से पहले ही अमेरिका ने एक अल्ट्रा-एक्सपेंसिव और अल्ट्रा-सीक्रेट मिशन की शुरुआत की थी, किसका कोड नाम 'मैनहट्टन प्रोजेक्ट' रखा था. इसका मुख़्य लक्ष्य था जर्मनी की नाजी सेना का मुक़ाबला करने के लिए ऐसे विनाशकारी हथियारों का निर्माण करना, जो पहले कभी नहीं बने थे.   

12- ग्रीक और रोमन इतिहास के सीक्रेट अंडरग्राउंड रास्ते  

प्राचीन ग्रीस और रोम ने कई 'Mystery Cults' का उदय होते देखा है, जिनमें से कुछ भूमिगत भी थे. इतिहास में आज भी इन रहस्यमयी रास्तों के बारे में पुख़्ता जानकारी मौजूद नहीं है.