ऐसा लोगों के साथ अक्सर होता है, किसी से बात करते हुए बगले झांकने लगते हैं... अब क्या बोला जाए, कौन सा सवाल पूछा जाए! हम सामने वाले से बात करने की चाहत रखते हैं लेकिन बात की शुरुआत कैसी करनी है, ये समझ नहीं पाते. कई बार कुछ न समझ आने पर कुछ भी बोल बैठते हैं.

Source: CrossWalk

ऐसे हालात से समझदारीपूर्वक निपटने के लिए हम कुछ सवाल आपको बता रहे हैं, जिनकी मदद से आप अपनी बातचीत में गहराई दे सकते हैं और अगले को अच्छे से समझ सकते हैं.

क्या है तुम्हारी कहानी?

ऐसे ओपेन इंडेड सवाल से सामने वाले की ज़िंदगी के बारे में बहुत कुछ पता चलता है और वो सीधे उन चीज़ों पर बात करना शुरू कर देता है, जो विषय उसके पसंद के होते हैं.

शोध बताता है कि लोगों को अपने बारे में उतना ही आनंद आता है जितना आनंद उन्हें अच्छा खाना खाने से, ड्रग्स करने से या सेक्स करने आता है.

अगर आप अपनी बातचीत में सामने वाले को उसकी कहानी सुनाने लायक Comfortable कर दिया तो मानो आपके रिश्ते की शुरुआत अच्छी हो गई.

अपने परिवार या दोस्तों में सबसे नज़दीक किससे हो?

किसी समझदार व्यक्ति ने कहा है कि इंसान के चरित्र की पहचान ये देखकर हो जाती है कि वो दूसरों से कैसे बर्ताव करता है. अगर वो अपने जीवन के ख़ास लोगों के साथ बुरे और अपने अच्छे वक़्त में कैसा व्यवहार करता है.

आख़िरी किताब/फ़िल्म जिसने तुम्हारे ऊपर एक छाप छोड़ी थी?

आप किसी के बारे में बहुत कुछ पता लगा सकते हैं सिर्फ़ ये जान कर उसे कैसी किताबें या फ़िल्में पसंद हैं. अगर उसे दोनों नहीं पसंद तो फिर आपका ख़ुदा ही मालिक है!

फ़िलहाल किस चीज़ का सामना करने में तुम्हें डर लगता है?

आमतौर पर हम अपने डर के बारे में बात करना पसंद नहीं करते. लेकिन एक बार जब हम उसको स्वीकार लेते हैं तब वो डर अपने आप आपने ख़ात्मे की ओर बढ़ने लगता है.

अगर तुम ज़िंदगी की शुरुआत दोबारा से कर सकते तो कौनसा अबकी अलग तरीके से करना चाहोगे?

अगर आप किसी से बहुत संजीदगी भरी लंबी बातें करना चाहते हैं तो रिग्रेट से अच्छा टॉपिक हो ही नहीं सकता, सबके अपने रिग्रेट होते हैं. कुछ सही मौक़े पर फ़ैसले न लेने के कुछ ग़लत लोगों से जुड़ जान के, कुछ मौक़े गंवान के.

याद रखें अगर आप मज़बूत रिश्ते की शुरुआत करना चाहते हैं तो अपने पार्टनर को सुनने की आदत डालें और वो भी ध्यानपूर्वक मन से वहां मौजूद रहकर.