कोरोना वायरस के चलते देशभर में 24 मार्च को 21 दिन का लॉकडाउन घोषित किया गया था. कुछ राज्यों ने इसे 30 अप्रैल तक बढ़ा भी दिया है. लॉकडाउन के चलते जो जहां थे वहीं फंसे रह गए. ऐसा ही मामला मध्यप्रदेश से भी सामने आया है.

Source: asianetnews

दरअसल, मध्यप्रदेश पुलिस में सब इंस्पेक्टर अशरफ़ अली अंसारी वर्तमान में इंदौर के लसूड़िया थाने में अपनी सेवाएं दे रहे हैं. वो एक महीने पहले अपनी बेटी शाबेरा अंसारी से मिलने मध्यप्रदेश के सीधी ज़िला गए हुए थे. लेकिन 24 मार्च को देशभर में लॉकडाउन के एलान के बाद से ही अशरफ़ वहीं फ़ंसे हुए हैं.

Source: asianetnews

इसके बाद पुलिस मुख्यालय ने लॉकडाउन की वजह से अशरफ़ अली को सीधी ज़िले के मझौली थाने में तैनात कर दिया. अशरफ़ की बेटी शाबेरा अंसारी इसी मझौली थाने की डीएसपी हैं. अब पिता-बेटी की ये जोड़ी एक ही थाने में सीनियर(बेटी) जूनियर(पिता) के तौर पर अपनी सेवाएं दे रहे हैं.

Source: asianetnews

थाने में पिता करते हैं सैल्यूट, तो घर पर बेटी खिलाती है खाना

अशरफ़ अली पद में जूनियर होने के नाते डीएसपी बेटी को हर रोज़ सैल्यूट मारते हैं. बेटी जो ज़िम्मेदारी देती हैं वो उन्हें करना पड़ता है. थाने में बेटी-पिता नहीं, बल्कि सीनियर-जूनियर बनकर काम करते हैं. इसके बाद शाम को घर जाकर वही सीनियर बेटी अपने हाथों से पिता के लिए खाना बनाती हैं.

Source: asianetnews

डीएसपी शाबेरा अंसारी ने बताया कि अशरफ़ अली अंसारी मेरे पिता हैं. वो काफ़ी अनुभवी हैं इसलिए उनसे काफ़ी कुछ सीखने को मिल रहा है. हम दोनों का काम अलग-अलग है, लेकिन मैं दोनों ही जगह अपना दायित्व बराबर से निभाती हूं.

Source: asianetnews

साल 2013 में सब इंस्पेक्टर के पद पर चयनित हुईं. इसके बाद साल 2016 में उन्होंने मध्यप्रदेश पुलिस में सेवा देनी शुरू की. शाबेरा नौकरी के साथ ही पीएससी की तैयारी भी करती रहीं. साल 2016 में उन्होंने पीएससी की परीक्षा पास कर ली और 2018 में डीएसपी पद पर तैनात हो गईं.

Source: asianetnews

शाबेरा अंसारी 9 दिसंबर 2019 से मध्यप्रदेश के सीधी ज़िले के मझौली थाने में प्रशिक्षु डीएसपी के पद पर कार्यरत हैं. लॉकडाउन के बीच पिता-बेटी की ये जोड़ी मिल जुलकर शानदार कार्य कर रही है.