किसी भी देश की तरक्की को उसके इतिहास से काट कर नहीं देखा जा सकता. ‘हम कहां से चले थे’ और ‘हम कहां पहुंचना चाहते हैं’ के बीच में ‘हम कहां पहंच चुके हैं’ को मापने के लिए इतिहास की जानकारी ज़रूरी है. इतिहास के इस सफ़र में हमें अपनी धरोहरों को मील का पत्थर मानना चाहिए. हमारे सामने खड़ी ये धरोहरें हमें अपने अतीत से जोड़े रखती हैं.

युनेस्कों ने भारत के 36 स्थानों, इमारतों, शहरों, गुफ़ाओं इत्यादी को विश्व धरोहर माना है. इस मौके पर हम भारत की इन धरोहरों की पुरानी तस्वीरों को देख अपने अतीत के थोड़े और करीब जाते हैं.

खजुराहो के मंदिर

vmis

हम्पी

arjunhaarith

अजंता की गुफ़ाएं

tripadvisor

एलोरा की गुफ़ाएं

pinterest

काज़ीरंगा

महाबोधी मंदिर

oldindianphotos

हुमायूं का मकबरा

pinterest

क़ुतुब मीनार

mythicalindia

लाल किला

indianluxurytrains

गोवा के पुराने चर्च और कॉन्वेंट

चंपानेर-पावागढ़ आर्कियोलॉजिकल पार्क

theculturetrip

सांची स्तूप

vmis

Rock Shelter of Bhimbetka

openart

एलिफ़ेंटा केव्स

hellotravel

छत्रपति शिवाजी टर्मिनस

कोणार्क का सूर्य मंदिर

tripoto

जयपुर का जंतर-मंतर

oldindianphotos

चोला साम्राज्य द्वारा बनाए गए मंदिर

thanjavurtourism

महाबलिपुरम के मंदिर

thenewsminute

आगरा का किला

फ़तेहपुर सीकरी का किला

wikimedia

ताजमहल

wikimedia

पहाड़ों पर चलने वाली रेल

greathimalayanoutdoors

नंदा देवी

amardevsingh

राजस्थान का पहाड़ी किला

रानी की वाव

tripadvisor

नालंदा विश्वविद्यालय

traelingpainschool

The Architectural Work of Le Corbusier

phaidon

अहमदाबाद शहर

आपको जब भी इन वैश्विवक धरोहरों के पास जाने का मौका मिलेगा, आप अपने भारतीय होने पर गौरवान्वित महसूस करेंगे.